विराट के सैकड़े और कुक के विकेट से टीम इंडिया को मिली मनोवैज्ञानिक बढ़त

विराट के सैकड़े और कुक के विकेट से टीम इंडिया को मिली मनोवैज्ञानिक बढ़त

बर्मिघम : भारत और इंग्लैंड के बीच बर्मिंघम के एजबेस्टन में चल रहे पहले टेस्ट मैच में दूसरे दिन जब इंग्लैंड की पारी 13 रन की बढ़त के साथ शुरु हुई तो मैच में फिर एक्शन रीप्ले देखने को मिला. भारत के आर अश्विन ने एक बार फिर एलिस्टर कुक को बिलकुल पहली पारी की तरह बोल्ड आउट कर दिया. इसके साथ ही अंपायरों ने पहले दिन का खेल समाप्त घोषित कर दिया. दूसरी पारी में इंग्लैंड का स्कोर 3.4 ओवर में एक विकेट के नुकसान पर 9 रन हो गया था और उसकी बढ़त 21 रन हो गई थी.

कप्तान विराट कोहली ने संकट से उबारते हुए न केवल अपना शतक पूरा किया बल्कि भारत को भी मैच में वापस ला दिया. पहले शतक लगाया फिर निचले क्रम के बल्लेबाजों को इंग्लैंड की गेंदबाजी से बचाते हुए टीम को स्कोर 250 रन से पार कर दिया. इसके बाद विराट ने आउट होने से पहले इंग्लैंड के स्कोर से भारत की पारी का अंतर केवल 13 रन तक कर दिया.

विराट को आदिल राशिद ने गली में खड़े स्टुअर्ट ब्रॉड के हाथों कैच कराया, जबकि विराट उससे एक गेंद पहले ही छक्का लगाकर अपना स्कोर 149 रन किया था. इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा विकेट 4 विकेट सैम कुरैन ने लिए थे. वहीं जेम्स एंडरसन, बेन स्टोक्स और आदिल राशिद ने दो-दो विकेट लिए.

एक समय में 100 ही रन पर पांच विकेट गंवाकर भारतीय पारी लड़खड़ा गई थी जिसके बाद एक छोर पर विराट ने संघर्ष जारी रखते हुए इंग्लैंड की धरती पर अपना पहला शतक पूरा कर लिया. विराट के करियर का यह 22वां शतक है. एक कप्तान के रूप में उनका 14वां शतक है. कोहली के शतक के समय टीम इंडिया का स्कोर 221 रन हो गया था.

इससे पहले आदिल राशिद ने ईशांत शर्मा का विकेट लिया जब भारत का स्कोर 217 रन हो गया था ईशांत 5 रन बनाकर आउट हुए. आदिल राशिद ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट किया. मोहम्मद शमी के रूप में भारत का 8वां विकेट गिरा. शमी केवल 2 रन बनाकर जेम्स एंडरसन को शिकार बने. एंडरसन का यह दूसरा विकेट था. इससे पहले अश्विन के रूप में 7वां विकेट खोने के बाद टीम इंडिया का स्कोर 169 रन हो गया था. वहीं कप्तान विराट कोहली 57 रन बनाकर खेल रहे थे.

भारत ने अपना स्कोर 150 के पार कर लिया जब कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड में अपने टेस्ट करियर का पहला अर्धशतक लगा दिया. हालाकि इस पारी में विराट कोहली को काफी जीवनदान मिले. यहां तक अर्धशतक पूरा होते ही एक बार और जीवनदान भी मिला.

इंडिया गहरे संकट में तब फंस गई थी जब आधी टीम इंडिया 100 रन बनाते बनाते ही पवेलियन लौट गई, लेकिन इसके बाद भारत के कप्तान विराट कोहली और हार्दिक पांड्या ने पारी को संभालते हुए आगे बढ़ाया ही था कि हार्दिक पांडया को सैम कुरैन ने एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया लेकिन इसी बीच विराट कोहली भी इंग्लैंड में अपने सर्वोच्च स्कोर को पार कर गए.इससे पहले विराट कोहली का इंग्लैंड में स्कोर 39 रन ही था. हार्दिक 22 रन बनाकर आउट हुए उस वक्त विराट 47 रन बनाकर खेल रहे थे. इस समय भारत का स्कोर 148 रन था.

100 बनने के बाद जैसे ही बेन स्टोक्स ने आजिंक्य रहाणे का विकेट लिया, बेन स्टोक्स ने दिनेश कार्तिक को भी शून्य पर बोल्ड आउट कर दिया. जिससे टीम इंडिया संकट में आ गई. क्रीज पर कप्तान विराट कोहली मौजूद हैं. उनके साथ हार्दिक पांड्या थे. बेन स्टोक्स की गेंद पर हार्दिक पांड्या भी पवेलियन लौट ही गए थे लेकिन उन्हें एक रीव्यू ने बचा लिया. स्टोक्स की गेंद पर अंपायर अलीम दार ने हार्दिक को एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया था लेकिन कप्तान कोहली की सलाह के बाद पांड्या रीव्यू में बच गए.

दूसरे सत्र में भारत के कप्तान विराट कोहली और आजिंक्य रहाणे ने टीम इंडिया का स्कोर जैसे ही 100 किया, बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को चौथी सफलता दिलाते हुए आजिंक्य रहाणे को 15 के निजी स्कोर पर आउट कर दिया. रहाणे का कैच केटन जेनिंग्स ने लिया. इस समय तक विराट कोहली 21 रन बनाकर खेल रहे थे.

पहले सत्र में अच्छी शुरआत के बाद भारतीय पारी के अचानक विकेटों के गिरने का सिलसिला शुरु हो गया था और टीम इंडिया ने जल्दी ही तीन विकेट गंवा दिए. लंच तक टीम इंडिया का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 76 रन हो गया था और भारतीय कप्तान विराट कोहली अपना विकेट बचाने में कामयाब हो गए थे. क्रीज पर विराट कोहली 9 रन और आजिंक्य रहाणे 8 रन बनाकर खेल रहे थे.

तीन विकेट गंवाने के बाद टीम इंडिया इंग्लैंड की तेज गेंदबाजी के सामने जूझती नजर आ रही थी. कप्तान विराट कोहली को भी शून्य पर जीवनदान मिला जब जेम्स एंडरसन की गेंद पर जोस बटलर गली में विराट कोहली का कैच नहीं ले सके. उस समय विराट का खाता भी नहीं खुला था.

अपने तीसरे ओवर में दो विकेट लेने के बाद सैम कुरैन ने शिखर धवन को भी पवेलियन वापस भेज दिया. शिखर कुरैन की गेंद पर डेविड मलान को कैच दे बैठे. शिखर 26 रन बनाकर आउट हुए. 50 पर एक भी विकेट नहीं खोने वाली टीम इंडिया 59 रन तक तीन विकेट खो चुकी थी.

13 ओवर तक भारत का कोई विकेट नहीं गिरा था लेकिन इसके बाद एक ही ओवर में सैम कुरैन ने इंग्लैंड को दो सफलता दिला दी.पहले सैम कुरैन ने मुरली विजय को एलबीडब्ल्यू आउट किया. मुरली का विकेट इंग्लैंड को रीव्यू में हासिल हुआ.मुरली के बाद जब केएल राहुल बल्लेबाजी करने आए तो उन्होंने पहली ही गेंद पर चौका लगा दिया. जिसकी अगली ही गेंद पर वे बोल्ड हो गए. 14 ओवर के बाद भारत का स्कोर 54 रन पर दो विकेट था. मुरली विजय 20 रन बनाकर आउट हुए और केएल राहुल 4 बनाकर आउट हुए.

इससे पहले भारत की सलामी बल्लेबाजी की जोड़ी ने बिना विकेट गंवाए भारत के 50 रन पूरे कर लिए. पारी की शुरुआत में जरूर इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने मुरली विजय और शिखर धवन को थोड़ा परेशान किया और एक रीव्यू भी गंवा दिया, लेकिन जेम्स एंडरसन, स्टु्अर्ट ब्रॉड और सैम कुरैन इंग्लैंड को सफलता दिलाने में नाकाम रहे.

पहले 10 ओवर में टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज मुरली विजय और शिखर धवन ने अपना विकेट भी बचाए रखा और भारत का स्कोर 44 रन भी कर दिया. मुरली विजय ने 16 रन तो शिखर धवन ने 19 रन बना लिए थे. दोनों की सफलता यही रही की उन्होंने अपना विकेट नहीं खोया.

दिन के दूसरे ओवर में ही इंग्लैंड की पारी 287 रनों पर सिमट गई. इंग्लैंड का आखिरी विकेट सैम कुरैन के रूप में गिरा जिन्हें मोहम्मद शमी ने आउट किया. कुरैन अपने पहले दिन के स्कोर में एक रन भी नहीं जोड़ सके और 24 रन पर ही आउट हो गए. उन्हें दिनेश कार्तिक ने विकेट के पीछे कैच किया. मोहम्मद शमी के इस पारी में तीन विकेट रहे.