नौजवान करदाताओं से आयकर मुक्ति का वादा कर सकती है कांग्रेस

नौजवान करदाताओं से आयकर मुक्ति का वादा कर सकती है कांग्रेस

नई दिल्ली: 2019 के लोक सभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस मध्यम वर्ग के युवा मतदाताओं को लुभाने के लिए बड़ी और आकर्षक घोषणाएं कर सकती है। इन्हीं में एक है, 35 साल की उम तक के करदाताओं को आय कर से मुक्ति। ‘द प्रिंट’ के मुताबिक कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने 13 जुलाई को इस पर गहन चर्चा की। हालांकि, इस पर क्या फैसला हुआ इसका खुलासा नहीं हो सका है। सूत्रों के मुताबिक यह बैठक प्रियंका गांधी ने बुलाई थी जो पर्दे के पीछे पार्टी के लिए 2019 के चुनावों की रणनीति बना रही हैं। अभी तक इसका खुलासा नहीं हो सका है कि पार्टी इस मुद्दे को चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करेगी या नहीं। पार्टी नए मतादाताओं पर इस बार अधिक फोकस कर रही है।

आंकड़ों के मुताबिक करीब 1.5 करोड़ युवा मतदाता 2019 में पहली बार मतदान करेंगे। इस लिहाज से पार्टी उनके लिए लोक लुभावन मुद्दों पर गहन मंथन कर रही है। कांग्रेस सूत्रों का मानना है कि पार्टी चाहती है कि इस तरह की छूट देकर युवाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित किया जाए। इसके अलावा जो युवा न्यू इंटरप्रिन्योर हैं, उन्हें कर सुरक्षा दी जाय। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक मौजूदा समय में देश की करीब एक तिहाई आबादी यानी करीब 80 करोड़ लोग 35 साल से कम उम्र के हैं। यह बड़ी आबादी है। कांग्रेस इस 80 करोड़ युवाओं पर फोकस करना चाह रही है। पिछले लोकसभा चुनाव यानी 2014 के घोषणा पत्र में भी कांग्रेस ने युवाओं के लिए 100 दिन में जॉब एजेंडा का एलान करने का वादा किया था।

बता दें कि 2019 की तैयारियों में पार्टी जुटी हुई है। पार्टी जननांकीय आधार पर देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों से रायशुमारी कर रही है। इसी के आधार पर आम चुनाव के लिए घोषणा पत्र तैयार किए जाएंगे। कर्नाटक और गुजरात विधान सभा चुनावों में भी कांग्रेस ने अलग-अलग जनसंख्या समूहों से अलग-अलग इलाकों में विचार विमर्श किया था। उसके आधार पर ही चुनावी घोषणा पत्र तैयार किए गए थे। पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए यह जिम्मेदारी सैम पित्रोदा को सौंपी है, जिन्होंने कर्नाटक और गुजरात चुनावों में मेनिफेस्टो तैयार करने में अहम भूमिका निभाई थी।