इमरान खान को PM बनने के लिए लेनी पड़ेगी दूसरों की मदद

इमरान खान को PM बनने के लिए लेनी पड़ेगी दूसरों की मदद

PTI ने जीतीं 114 सीटें, बहुमत से 23 सीटें दूर, अभी 11 सीटों के परिणाम आना बाक़ी

इसलमाबाद: पाकिस्तान आम चुनाव के नतीजे सामने आ गये हैं. पूर्व क्रिकेटर इमरान खान (Imran Khan) की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सबसे बड़ी पार्टी बनी है . मगर सरकार बनाने के लिए इमरान खान की पार्टी को गठबंधन करने की जरूरत होगी. यह जानकारी आधिकारिक नतीजे सामने आने के बाद आई है. बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सबसे बड़े दल के तौर पर उभरने के बाद इमरान खान ने आम चुनाव में जीत का दावा किया.

रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तान आम चुनाव के आधिकारिक परिणाम ने क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ या पीटीआई की जीत का ऐलान कर दिया है. हालांकि, इमरान खान को सरकार बनाने के लिए सहयोगियों की जरूरत होगी और तब जाकर वह गठबंधन की सरकार बना पाएंगे. पाकिस्तान चुनाव आयोग द्वारा जारी आज अंतिम परिणाम के मुताबिक, पीटीआई अब तक 114 सीटें जीत चुकी है. बता दें कि नेशनल एसेंबली में कुल 272 सीटें हैं.

इमरान खान के प्रतिद्वंदी और पनामा मामले में जेल की सजा काट रहे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएन-एल ने 63 सीटें जीती हैं. वहीं, बिलावल भुट्टो की पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी यानी पीपीपी के खाते में 43 सीटें गई हैं. हालांकि, रिपोर्ट्स का कहना है कि अभी भी 11 सीटों पर गिनती जारी है.

गौरतलब है कि किसी एक पार्टी को अपने दम पर सरकार बनाने के लिए सीधे तौर पर निर्वाचित सीटों में से कम से कम 137 सीटों की जरूरत होगी. पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में कुल 342 सदस्य होते हैं जिनमें से 272 को आम चुनावों में सीधे तौर पर चुना जाता है जबकि शेष 60 सीटें महिलाओं और 10 सीटें धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित हैं. आम चुनावों में पांच फीसदी से ज्यादा वोट पाने वाली पार्टियां इन आरक्षित सीटों पर समानुपातिक प्रतिनिधित्व के हिसाब से अपने प्रतिनिधि भेज सकती हैं.

इससे पहले रुझानों में दिख रही जीत के बाद पीटीआई अध्यक्ष इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इमरान खान ने प्रेस कांफ्रेंस में गरीबी, आतंक से लेकर कश्मीर मुद्दे तक की बात की. उन्होंने कहा कि, 'मैं अल्लाह का शुक्रिया करना चाहता हूं. 22 सालों की कड़ी मेहनत के बाद मेरी दुआओं का जवाब मिला है. अब मुझे मेरे सपनों को साकार करने और देश की सेवा करना का मौका मिला है.' इमरान ने कहा कि हम पाकिस्तान में लोकतंत्र को मजबूत होते देख रहे हैं. कई आतंकी हमलों के बावजूद चुनावों का सफल आयोजन हुआ, इसके लिए मैं सुरक्षाबलों को बधाई देना चाहता हूं.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हिन्दुस्तान से ताल्लुख अच्छे होते हैं तो हम एक दूसरे से बिजारत करेंगे. कोशिश होनी चाहिए पाकिस्तान और भारत को एक टेबल पर बैठकर बातचीत करना चाहिए. इमरान ने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ संबंध सुधारने के लिए तैयार हैं. अगर भारत सरकार एक कदम आगे बढ़ती है तो हम दो कदम आगे बढ़ेंगे.