राहुल की जादू की झप्‍पी को प्रेम के साथ प्रधानमंत्री को स्‍वीकार करना चाहिए: शत्रुघ्न सिन्हा

राहुल की जादू की झप्‍पी को प्रेम के साथ प्रधानमंत्री को स्‍वीकार करना चाहिए: शत्रुघ्न सिन्हा

नई दिल्‍ली : मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर 20 जुलाई को लोकसभा में हुई चर्चा में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाने के बाद सियासी गलियारों में घमासान मचा हुआ है. इसी बीच बीजेपी के ही सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने अपनी पार्टी पर निशाना साधा है. उन्‍होंने बागी तेवर दिखाते हुए है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेश के उच्‍च पदस्‍थ लोगों को गले लगा सकते हैं तो राहुल ने उन्‍हें गले लगाकर कुछ अलग नहीं किया. इसमें कुछ भी अलग नहीं है.

बीजेपी सांसद ने ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी की इस जादू की झप्‍पी को प्रेम और खुशी के साथ स्‍वीकार करना चाहिए. उन्‍होंने अपने ही अंदाज में आगे कहा है कि 'जरा सी बात का अफसाना बना देते हैं लोग, कैसे नादान हैं कि शोलों को हवा देते हैं लोग'. उन्‍होंने सवाल उठाया कि राहुल गांधी की ओर से पीएम को दी गई जादू की झप्‍पी के ऊपर इतना हंगामा क्‍यों मचा हुआ है. उन्‍होंने राहुल गांधी के इस कार्य की तारीफ करते हुए कहा कि युवा और अगली पीढ़ी के सक्रिय नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गर्मजोशी से गले लगाया है. यह कितना उत्‍तम काम था.

बता दें कि 20 जुलाई को लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान अपने भाषण के आखिर में राहुल गांधी ने कहा था 'आपके लिए मैं भले ही पप्‍पू हूं, आपके दिल में मेरे लिए नफरत हो सकती है, लेकिन मैं आपसे बहुत प्‍यार करता हूं.' इसके बाद राहुल गांधी अपनी सीट छोड़कर प्रधानमंत्री मोदी के पास गए और उनसे हाथ मिलाते हुए उन्हें जादू की झप्‍पी दे दी. उन्‍होंने पीएम को गले लगाया. पीएम मोदी ने भी राहुल गांधी का मुस्‍कुराकर अभिवादन किया.