हिंसक हुआ मराठा आरक्षण आंदोलन

हिंसक हुआ मराठा आरक्षण आंदोलन

मुंबई: मराठा आरक्षण की मांग को लेकर मराठा आंदोलनकारियों ने आज महाराष्ट्र के कई ज़िलों में बंद बुलाया है. आंदोलनकारियों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया है. कई जगह लोगों ने चक्का जाम कर रखा है. मराठा मोर्चा के लोगों ने औरंगाबाद-पुणे हाइवे पर सड़क बंद कर रखा है. वहीं ये आंदोलन हिंसक रूप ले चुका है. आरक्षण की मांग को लेकर सोमवार को एक युवक की ख़ुदकुशी के बाद आंदोलन और भड़क गया है. आज इस लड़के के अंतिम संस्कार में पहुंचे शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे को आंदोलनकारियों ने खदेड़ दिया.

औरंगाबाद में आज एक और लड़के ने ख़ुदकुशी की कोशिश की है. मराठा आंदोलन की वजह से लातूर, बीड़ ज़िले भी प्रभावित हैं. लातूर में पंढरपुर जा रहे यात्रियों से भरी एक बस सोमवार रात से बस स्टैंड में खड़ी है. बीड जिला भी पूरी तरह से बंद है. एहतियातन स्कूल-कॉलेजों में भी छुट्टी दे दी गई है.

आपको बता दें कि औरंगाबाद में जलसमाधि आंदोलन में आंदोलनकारी काका साहेब शिंदे की मौत के बाद आंदोलन तेज कर दिया गया. इस बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने युवक की मौत को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुये परिवार को मदद का भरोसा दिया है साथ ही लोगों से हिंसा नहीं करने की अपील की है.

इससे पहले मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को घेरने की तैयारी करने की योजना बना रहे मराठा क्रांति मोर्चा के कम से कम 20 सदस्यों को एहतियाती तौर पर हिरासत में लिया गया है. ये उस समारोह स्थल की ओर बढ़ रहे थे जहां आज मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस पहुंचने वाले थे. फडणवीस सोमवार को पुणे के चिंचवड इलाके में ‘ क्रांतिवीर चापेकर राष्ट्रीय संग्रहालय ’ के भूमि पूजन सहित कई समारोह में शिरकत करने जा रहे थे.

India