केंद्रीय विद्यालयों में सुबह की प्रार्थना क्या हिंदू धर्म का प्रचार है? SC करेगा सुनवाई

केंद्रीय विद्यालयों में सुबह की प्रार्थना क्या हिंदू धर्म का प्रचार है? SC करेगा सुनवाई

नई दिल्ली: केंद्रीय विद्यालयों में हिंदी में प्रार्थना क्या हिंदू धर्म का प्रचार है? सुप्रीम कोर्ट अब इस मामले की सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए केन्‍द्र सरकार और केन्‍द्रीय विद्यालयों को नोटिस जारी कर जवाब भी मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ये बड़ा गंभीर संवैधानिक मुद्दा, जिस पर विचार जरूरी है. यह याचिका एक वकील ने दाखिल कर कहा कि केंद्रीय विद्यालयों में 1964 से हिंदी में सुबह की प्रार्थना हो रही है जोकि पूरी तरह असंवैधानिक है.

ये संविधान के अनुच्छेद 25 और 28 के खिलाफ है और इसे इजाजत नहीं दी जा सकती है. कानून के मुताबिक, राज्यों के फंड से चलने वाले संस्थानों में किसी धर्म विशेष को बढ़ावा नहीं दिया जा सकता.

India