गोरखपुर महोत्सव सरकारी धन का दुरूपयोग और मृत बच्चो की आत्मा का अपमान है: प्रो० रमेश दीक्षित

लखनऊ: उत्तर प्रदेश राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की गोरखपुर में गोरखपुर यूनिवर्सिटी परिसर में 11 से 13 जनवरी तक आयोजित होने वाले गोरखपुर महोत्सव के लिए शासन की तरफ से लाखो रुपये स्वीकृत किए जाने की घोर आलोचना की है । राकापा ने योगी सरकार के इस कदम की कड़ी मुखालफत करते हुए इसे एक “ बेशर्म सरकार” सरकार का एक बेहद गैरजिम्मेदाराना और अमानवीय कृत्य बताया।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रो० रमेश दीक्षित ने योगी सरकार के इस फैंसले को पिछले दिनों गोरखपुर स्थित बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में अगस्त के महीने में 290 बच्चों की मौत पर जश्न जैसा करार दिया है । प्रो० दीक्षित ने कहा कि पिछले कई सालो से योगी गोरखपुर के सांसद है और वर्तमान में मुख्यमंत्री भी , पर वो वहां पर जेई (जापानी इंसेफेलाइटिस) और पिछले दिनों बाबा राघवदास मेडिकल कालेज में बच्चो की हुयी मौत पर कोई कारगार कदम न उठा कर , सैकड़ो करोड रुपये खर्च कर महोत्सव रचाया जा रहा है। श्री दीक्षित ने इसको सैफई महोत्सव से मुकाबले की तैयारी करार दिया जहाँ मुंबई दिल्ली के कलाकार मृत बच्चो की मौत का जश्न मनाएंगे । प्रो० दीक्षित ने कहा कि प्रदेश कंगाली की ओर है ,आलू किसान , गन्ना किसान तबाह हो रहा है जरुरी कामो के लिए पैसे नहीं है । कड़ाके की सर्दी में प्रदेश में अलाव और बच्चो के स्वेटर के लिए सरकार का खजाना खाली है । उन्होंने कहा कि सैफई महोत्सव से भी आलीशान जलसा रचाने की योजना खाली खजाने पर बोझ है । योगी सरकार ने सांतवे वेतन आयोग का एरियर भुगतान तक टाल दिया है , प्रदेश में करो की वसूली भी घटी है ।

Lucknow, Uttar Pradesh, India