अलीगढ़: हिंदू संगठन की स्कूलों को चेतावनी, हिंदू स्टूडेंट्स पर क्रिसमस कार्यक्रम न थोपें

अलीगढ़: हिंदू संगठन की स्कूलों को चेतावनी, हिंदू स्टूडेंट्स पर क्रिसमस कार्यक्रम न थोपें

अलीगढ़: क्रिसमस से पहले अलीगढ़ में हिंदू जागरण मंच ने सोमवार को शहर के स्कूल और कॉलेजों को पत्र जारी करते हुए कहा है कि वे हिंदू छात्र और छात्राओं पर ईसाई धर्म के कार्यक्रम को न थोपें. पत्र में कहा गया है कि इसे चेतावनी या सुझाव जो भी समझना हो समझ लें.

हिन्दू जागरण मंच महानगर हरिगढ़ कि एक बैठक बुलाई गई गई थी, जिसमें 25 दिसंबर से पहले स्कूल-कॉलेजों में ईसाई धर्म से जुड़े कार्यक्रमों को आयोजित न करने के लिए पत्र भेजने पर सहमति बनी.

महानगर अध्यक्ष सोनू सविता ने कहा क्रिसमस के मौके पर स्कूलों और कॉलेजों में ईसाई धर्म से जुड़े कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. जबकि इन स्कूलों में हिंदू छात्र और छात्राएं बहुसंख्यक हैं. ईसाई धर्म के छात्रों की संख्या बहुत कम होते हुए भी इस मौके पर इस धर्म से जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन करना गलत है.

सोनू ने कहा कि बच्चों पर ईसाई धर्म को थोपना अनुचित है. यह बच्चों के दिमाग पर ईसाई धर्म को लादने जैसा है. प्रांतीय मंत्री संजू बजाज ने कहा कि ऐसे किसी भी स्कूल या कॉलेज में, जहां हिंदू छात्रों की संख्या ज्यादा है, क्रिसमस का आयोजन किया गया तो उसे इसाई धर्म का प्रचारक एवं हिन्दू बच्चों कि मानसिकता दूषित करने वाला संस्थान माना जाएगा. यही नहीं हिन्दू जागरण मंच इस तरह के संस्थानों का विरोध भी करेगा.

विभाग संयोजक अमित राजा ने कहा कि अगर हमारे बच्चों को हिन्दू संस्कृति से विमुख किया जाएगा तो उन्हें हिंदुत्व की समझ कैसे आएगी. महानगर महामंत्री पुनीत शर्मा ने कहा कि मासूम बच्चों को स्कूल-कॉलेज जाने-अनजाने में ईसाई धर्म कि ओर ले जा रहा हैं. यह हिन्दू धर्म के खिलाफ है. इसे धर्मांतरण करना या उसे हिन्दू धर्म के खिलाफ माना जाएगा.

Uttar Pradesh, India