कृपया सीटबेल्ट बांध लें, हमारे जहाज के पंख गिर चुके हैं

कृपया सीटबेल्ट बांध लें, हमारे जहाज के पंख गिर चुके हैं

अर्थव्यवस्था को लेकर यशवंत सिन्हा के बयान पर राहुल ने ली चुटकी

नई दिल्ली: इधर बीजेपी के बड़े नेता और पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर अरुण जेटली पर निशाना साधा, उधर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बयानों और टिप्पणियों की इस 'खींचतान' पर तंज कस दिया है. यशंवत सिन्हा के इस बाबत लिखे गए एक आर्टिकल को एक अंग्रेजी अखबार ने ट्वीट किया, जिसे राहुल गांधी ने रीट्वीट किया. उन्होंने री-ट्वीट करते हुए लिखा- लेडीज एंड जेंटलमेन, यह आपके को-पायलट और फाइनेंस मिनिस्टर बोल रहे हैं. कृपया अपनी सीटबेल्ट बांध लें और सिकुड़कर बैठ जाएं. हमारे जहाज के पंख गिर चुके हैं.

बता दें कि लगातार गिरती जीडीपी और चरमरा रही अर्थव्यवस्था के कारण यशवंत सिन्हा ने गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर अरुण जेटली पर निशाना साधा है. अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में यशवंत सिन्हा ने कहा कि अरुण जेटली अभी तक इस सरकार में सबसे बड़ा चेहरा रहे हैं. कैबिनेट में नाम तय होने से पहले ही उनका नाम तय था कि जेटली वित्त मंत्रालय संभालेंगे. लोकसभा चुनाव हारने के बावजूद उन्हें मंत्री बनने से कोई नहीं रोक पाया.

सिन्हा ने कहा कि इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में जसवंत सिंह और प्रमोद महाजन भी वाजपेयी के करीबी थे, लेकिन इसके बाद भी उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया था. लेकिन जेटली को वित्त मंत्रालय के साथ ही रक्षा मंत्रालय भी मिला. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का दावा है कि उन्होंने गरीबी को काफी नज़दीक से देखा है... उनके वित्तमंत्री इस बात को सुनिश्चित करने के लिए ज़रूरत से ज़्यादा मेहनत कर रहे हैं कि सभी भारतीय भी उसे (गरीबी को) उतना ही नज़दीक से देख सकें.