योगी का श्वेत पत्र एक सफ़ेद झूठ: अखिलेश

योगी का श्वेत पत्र एक सफ़ेद झूठ: अखिलेश

तौक़ीर सिद्दीक़ी

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि प्रदेश सरकार का श्वेत पत्र सफेद झूठ है। इसे पहले एक माह के अंदर ही आना था लेकिन तैयार करने में छह माह लग गए। सरकार की 6 माह की उपलब्धियों का बखान भी धोखा है। किसानों के साथ इससे बड़ा धोखा नहीं हो सकता। किसान, सरकार का दिया प्रमाणपत्र फाड़ रहे हैं।

अखिलेश ने कहा, देर रात तक प्रेजेंटेशन देखने वाले सीएम और उनके मंत्रियों को एक बार प्रमाणपत्र भी देख लेना चाहिए था। पूर्व सीएम अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा कि सरकार में पिछड़ी जाति के भी एक उप मुख्यमंत्री हैं। वह हर बार पिछड़ ही जाते हैं। एक बार उन्होंने एनेक्सी में अपने नाम का बोर्ड लगवा दिया था जिसे उखड़वा दिया गया। यह बात भी श्वेत पत्र में आनी चाहिए थी।

अखिलेश ने मुख्यमंत्री योगी पर तीखे हमले किए। उन्होंने कहा कि मैंने गोरखपुर में 500 बेड के अस्पताल का निर्माण शुरू कराया था। मुख्यमंत्री अपने जिले के इस अस्पताल को ही नहीं पूरा करवा पा रहे हैं।

अखिलेश ने कहा, शिक्षा मित्र इससे पहले कभी अपमानित नही हुए होंगे जितना इस सरकार में हुए हैं। हमने 18 लाख लैपटॉप बांटे हैं। आप बच्चों से पूछो कि क्या हमने जाति के आधार पर लैपटॉप बांटे। बीजेपी के लोग सिर्फ आरोप लगा सकते हैं। बीजेपी के लोग दूसरे लोगों का सपना अपनी आंख में देखते हैं। उन्होंने कहा, गांव में बिजली आ रही है कि नहीं, ये तो सीएम ने बताया ही नहीं है। लखनऊ में ही बिजली कई बार आती और जाती है। इस सरकार में बिजली का कितना कोटा बढ़ा बताइये।

Lucknow, Uttar Pradesh, India