डुप्लीकेट आधारकार्ड बनाने वाले जालसाज यूपी एसटीएफ के हाथे चढ़े

डुप्लीकेट आधारकार्ड बनाने वाले जालसाज यूपी एसटीएफ के हाथे चढ़े

40 रुपए में बनता था डुप्लीकेट आधारकार्ड

लखनऊ: यूपी एसटीएफ ने रविवार को 10 ऐसे जालसाजों को गिरफ्तार किया है जो 40 रुपए में डुप्लीकेट आधारकार्ड बनाकर बेच रहे थे. छापेमारी के दौरान इनके पास से कई लैपटॉप, मोबाइल, प्रिंटिंग मशीन समेत फिंगर स्कैनर डिवाइन भी बरामद हुई है.

बता दें, कुछ दिनों पहले एसटीएफ को जानकारी मिली कि प्रदेश के कई शहरों में टैम्पर्ड क्लाइंट एप्लिकेशन के जरिए फर्जी आधार कार्ड बनाए जा रहे हैं. इस जानकारी पर यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) के डिप्टी डायरेक्टर ने साइबर क्राइम थाना लखनऊ में केस भी दर्ज कराया था.

कुछ दिनों बाद एसटीएफ को जानकारी मिली कि कानपुर के बर्रा का रहने वाला सौरभ इस गिरोह का मास्टरमाइंड है. इस जानकारी पर एसटीएफ ने सौरभ समेत 10 जालसाजों को गिरफ्तार कर लिया.

खुलासे की जानकारी देते हुए आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि ये गिरोह प्रदेश के अलग-अलग जिलों में 6 महीने से सक्रिये थे. अब तक ये लोग कितने फर्जी आधार कार्ड बना चुके हैं, इसका अनुमान लगाना मुश्किल है. इनका जालसाजों का मकसद सिर्फ ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाना.

Lucknow, Uttar Pradesh, India