गांधी मैदान से लालू ने नितीश को बताया कालनेमि राक्षस

गांधी मैदान से लालू ने नितीश को बताया कालनेमि राक्षस

पटना: पटना के गांधी मैदान में लालू यादव की 'देश बचाओ, भाजपा भगाओ' रैली चल रही है. लाखों की संख्या में न सिर्फ बिहार से बल्कि दूसरे राज्यों से भी लोग जुट गए हैं. पूरा लालू परिवार मंच पर है. मंच पर पहुंचते ही लालू यादव और शरद यादव को गले मिलते भी देखा गया. मंच पर पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, बाबू लाल मरांडी, शरद यादव, गुलाम नबी आजाद, डी राजा आदि हैं.

रैली में लालू यादव शुरू से आखिर तक नीतीश कुमार पर हमलावर दिखे. इस दौरान उन्होंने एनडीए के साथ नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर तीखे हमले किए.| लालू बोले --बोलता था कि तेजस्वी से इस्तीफा नहीं मांगेगे। नीतीश पर मर्डर का केस है। सारा कागज हमारा पास आ गया है। बोलता था कि भ्रष्टाचार पर जीरो टालरेंस। सीबीआई से जांच कराओ। बीजीपी वाला तो इनको ठूंसने की तैयारी में था, इसलिए ये सांठगांठ किए। सुप्रीम कोर्ट के जज की मॉनिटरिंग में सृजन की जांच होनी चाहिए। ऐसा दलबदलू हमने नहीं देखा। इस आदमी का वही कैरेक्टर है जो हम लोग गांव में कहते हैं-एको छव बुलकी, जेने देखे दही-चूडा, उनही ढुलकी। नीतीश ने कहा शराब बंद कर देते हैं। मैंने कहा एक तरफ बंगाल है, झारखंड है, यूपी है शराब रुकेगा कैसे। आज घर-घर शराब मिल रहा है। 40 हजार लोगों को जेल में बंद कर रखा है। ये आदमी सचमुच में पटलूराम है

नीतीश का कोई सिद्धांत नहीं, मुलायम के कहने पर नीतीश को CM बनाया| नीतीश को खतरा था तेजस्वी यादव से। जगजीवन राम की बेटी को राष्ट्रपति नहीं बनने दिया| वो आदमी बोलता है कि हमने लालू को बनाया। ये आदमी तो इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ता था। जेपी के मार्गदर्शन में मेरे नेतृत्व में झंडा फहराया जाता था। कहीं नीतीश कुमार का अता-पता नहीं था

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का रिकॉर्डेड आॅडियो मंच पर सुनाया गया. इसमें उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'आज जो सरकार चल रही है वो अपने हिसाब से देश को बना रहे हैं. सत्ता में बैठे लोग जनता को मूर्ख बना रहे हैं. अस्पताल में बच्चों की जान जा रही हैं. तीन साल में कितने लोगों को रोजगार दिया गया, इसका हिसाब ये सरकार नहीं दे रही है. उन्होंने विपक्ष को एकजुट होकर सरकार के खिलाफ खड़े होने का आह्वान किया.'