पुर्तगाल में जंगलों में लगी भीषण आग से 57 की मौत

पुर्तगाल में जंगलों में लगी भीषण आग से 57 की मौत

मध्य पुर्तगाल के जंगल में लगी भीषण आग में कम से कम 57 लोगों की मौत हुई है और कई अन्य झुलस गये हैं। सरकार ने कहा कि अधिकांश की मौत कार में जलकर हुई है। कोइंब्रा से करीब 50 किलोमीटर दूर पेड्रोगाओ ग्रांडे म्यूनिसिपलिटी के जंगल में शनिवार अपराह्न आग भड़क उठी थी। अग्निशमन दल के 600 कर्मचारी और 160 वाहनों को आग पर काबू पाने के लिए भेजा गया है। आग बेहद तेजी से कई जगहों पर फैल गयी। लिस्बन के निकट सिविल प्रोटेक्शन मुख्यालय में प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा ने कहा, ‘दुर्भाग्य से जंगलों में लगी आग के संदर्भ में हाल के वर्षों में हमारे द्वारा देखी गयी सबसे बड़ी दुर्घटनाओं में से यह एक लगती है।’ उन्होंने कहा, ‘हताहतों की संख्या बढ़ सकती है। प्राथमिकता उन लोगों को बचाने की है जो अब भी खतरे में हो सकते हैं।’ उन्होंने कहा, “अभी पहली प्राथमिकता आग पर काबू पाने की है। इसके बाद ही हम समझ पाएंगे कि हुआ क्या था।” पुर्तगाल में कई इलाकों में सप्ताहांत का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा चला गया था। देश भर में जंगलों में आग लगने के 60 मामले सामने आये और इन पर काबू पाने के लिये 1700 दमकलकर्मियों को लगाया गया है। गृह मंत्री जॉर्ज गोम्स ने कहा कि लीरिया क्षेत्र में आग से झुलसकर 57 लोगों की मौत हुई है इनमें से अधिकतर लपटों में घिरी अपनी कारों में फंस गये थे। कम से कम 59 लोग झुलस गये हैं। आंतरिक मामलों के मंत्री जॉर्ज गोम्स ने कहा कि प्रेडोगो ग्रांडे के पास आग तेजी से फैली। स्पेन ने आग पर काबू पाने में मदद करने के लिए दो वाटर-बाम्बिंग विमान भेजे हैं। आग लगने का कारण अभी पता नहीं चल पाया है, हालांकि प्रधानमंत्री कोस्टा ने कहा है कि आंधी-तूफान आग लगने का एक कारण हो सकता है।