हम तो बुलेट ट्रेन चला रहे हैं मगर कहां है मोदी की ‘बुलेट ट्रेन’: अखिलेश

हम तो बुलेट ट्रेन चला रहे हैं मगर कहां है मोदी की ‘बुलेट ट्रेन’: अखिलेश

देवरिया : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज ‘बुलेट ट्रेन’ के जरिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि तीन साल का कार्यकाल गुजरने के बाद भी यह घोषणा जमीन पर नहीं उतरी है, ऐसे में केन्द्र को जल्दी करनी चाहिये, क्योंकि अगली बार उसे मौका नहीं मिलेगा। अखिलेश ने यहां सपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभा में मोदी सरकार की ‘बुलेट ट्रेन’ परियोजना पर तंज करते हुए कहा ‘हम तो मेट्रो चला रहे हैं। आपकी बुलेट ट्रेन कहां है। अब तो आपकी सरकार को बने तीन साल हो गये। वह ट्रेन कहां गयी। अगली बार तो आपको मौका नहीं मिलेगा। इसलिये जल्दी करो।’ उन्होंने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा ‘आप तो तीन बार गुजरात के मुख्यमंत्री रहे। वहां मेट्रो नहीं बनवा पाये। हमने तो तीन जगह मेट्रो बनवायी है।’

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा के लोग कोई काम जमीन पर नहीं उतार पाये। फिर जवाब दे रहे हैं और कह रहे हैं कि हम रमजान में ज्यादा और दीवाली में कम बिजली देते हैं। अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश में परीक्षाओं में बहुत नकल होने की बात कही है। मैंने कहा कि अभी कहीं परीक्षा हो रही हो तो बताएं। भाजपा की सरकार में ही पेपर आउट करने वाले पकड़े गये हैं। उन्होंने कहा कि मोदी बताएं कि जब अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा भारत आये थे, तब आपने किसकी नकल करके सूट बनवाया था। हम जानते हैं कि दुनिया के किसी दूसरे हिस्से में कोई बड़ा आदमी था, उसने अपने सूट पर महीन अक्षरों में नाम लिखवाकर डिजायन बनवाया था।, वही काम मोदी ने किया।

भाजपा सांसद गोरक्षपीठाधीश्वर आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा ‘पड़ोस वाले एक बाबा हैं। उन्होंने बिजली पर सवाल उठाया है। उनके लिये इतना ही कहेंगे कि बाबा लोग अपने हाथ पर आग रखकर दिखाते थे। ये बाबा गोरखपुर में बिजली के तार छूकर देखें कि बिजली आ रही है या नहीं।’ मुख्यमंत्री ने बसपा पर भाजपा से सांठगांठ करने का फिर आरोप लगाया और कहा कि दोनों ने मिलकर हिसाब किताब बनाया है कि किसी भी तरह सपा को सरकार बनाने से रोका जाए। उन्होंने बसपा मुखिया मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि वह आजकल खूब पन्ने पढ़ते हुए भाषण दे रही हैं। हमारी सभा में तो लोग ताली बजाते और नारेबाजी करते हैं, मगर उनकी सभा में जब वह पन्ने पढ़ रही होती हैं तो लोग सो रहे होते हैं। वह अब विकास की बात करती हैं। हमने तो उनका विकास देखा है।

अखिलेश ने कहा ‘बुआजी हमसे कह रही हैं कि अब हमेंं बुआ ना कहो। याद कीजिये भाजपा के एक नेता ने उन्हें कुछ गलत बात कह दी थी, तो इन्हीं बुआ ने कहा था कि अगर मुख्यमंत्री हमें बुआ कहते हैं तो उस नेता को गिरफ्तार करवाएं। हमने उसे बिहार से गिरफ्तार कराया था। अब कह रही हैं कि बुआ मत कहो। हम आप लोगों को उनसे सावधान करना चाहते हैं। वह भाजपा के साथ फिर रक्षाबंधन मनाने की तैयारी कर रही हैं।’ सपा अध्यक्ष ने चुनाव में जनता से वोट की अपील करते हुए कहा कि अब तो तीन ही चरण का चुनाव बचा है। अब तो सीटों की भी संख्या ज्यादा नहीं बची। आखिर में जिसकी सरकार बनने वाली होती है, वोट उसी को मिल जाता है।