L & T  ने उन्नत मिसाइल प्रणालियों के विकास हेतु एमबीडीए के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित किया

L & T ने उन्नत मिसाइल प्रणालियों के विकास हेतु एमबीडीए के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित किया

भारत के बहुर्राष्ट्रीय इंजीनियरिंग समूह एवं निजी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी-लार्सेन ऐंड टुब्रो और मिसाइल प्रणालियों में दुनिया में अग्रणी - एमबीडीए ने भारतीय सशस्त्र सेना की बढ़ती आवश्यकताएं पूरी करने के लिए मिसाइल एवं मिसाइल प्रणालियों के विकास एवं आपूर्ति के लिए संयुक्त उद्यम स्थापित किया है।

‘एलऐंडटी एमबीडीए मिसाइल सिस्टम्स लिमिटेड’ नामक यह संयुक्त उ़द्यम कंपनी एक निर्धारित कार्यस्थल से परिचालन करेगी, जिनमें पाइरोटेक्निकल एकीकरण एवं फाइनल चेकआउट संयंत्र शामिल होंगे। आवश्यक स्वीकृतियां मिल जाने के उपरांत, वर्ष 2017 की पहली छमाही में इसके शुरू हो जाने का अनुमान है। भारत की विदेशी प्रत्यक्ष निवेश पॉलिसी मानदंडों का पूर्णतः पालन करते हुए, एलऐंडटी का इस कंपनी में 51 प्रतिशत की हिस्सेदारी होगी और एमबीडीए की इसमें 49 प्रतिशत की हिस्सेदारी होगी। इस संयुक्त उद्यम को भारत में पंजीकृत किया जायेगा और यह भारतीय नियमों के अनुसार भारतीय कंपनी अधिनियम के आधार पर चलाया जायेगा। यह नई कंपनी मिसाइल्स एवं मिसाइल प्रणालियों में व्यावसायिक अवसरों पर ध्यान देगी और यह रक्षा खरीद के बाय (भारतीय - आईडीडीएम), बाय (भारतीय) और बाय ऐंड बैंक (भारतीय) श्रेणियों के तहत संभावनाओं पर लक्ष्य करेगी।