कुशासन-भ्रष्टाचार के पोषक क्या जानें ’गोद लिये बेटे’ का मजबूत विकासः केशव मौर्य

कुशासन-भ्रष्टाचार के पोषक क्या जानें ’गोद लिये बेटे’ का मजबूत विकासः केशव मौर्य

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने माटी का कर्ज चुकाने के लिए बड़ा काम करने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना करने के बजाय उन पर उंगली उठाने वाले सपा-बसपा व कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सांसद श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदेश की खनिज संपदा को लूटने के लिए अपने मंत्री गायत्री प्रजापति, सरकारी धन को हड़पने के लिए यादव सिंह और महिला की हत्या के आरोप में कटघरे में खड़े सपा विधायकों जैसे समाज के लिए खतरनाक लोगों को संरक्षण देने वाले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अपराध और भ्रष्टाचार के गठजोड़ से फुर्सत नहीं है। ऐसे मंे केन्द्र सरकार के किसानों, गरीबों, दलितांे, पिछड़ों, युवाओं और महिलाओं का जीवन बेहतर बनाने के काम नहीं दिखेंगे। उन्होंने कहा कि परिवारवाद और वंशवाद को आगे बढ़ाकर लोकतंत्र को खतरे में डालने वाली कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी को उत्तरप्रदेश के गोद लिए बेटे प्रधानमं़त्री नरेंद्र मोदी का प्रदेश की जनता की गरीबी दूर करने, रोजगार का अवसर मुहैया कराने और समाज के वंचित-शोषित समाज को ऊपर उठाने के युद्धस्तर पर चलाए जा रहे काम नहीं दिखेंगे, क्योंकि कांग्रेस पार्टी ने सत्ता में रहने के दौरान पिछले 70 सालों में गांधी-नेहरू खानदान के लोगों के अलावा अपनी ही पार्टी के ईमानदार और देशभक्त लोगों की टांग खिंचाई की और अपमान-दुव्र्यवहार किया। दलितों का उद्धार करने का खोखला दावा करने वाली बसपा सुप्रीमो बहन मायावती को मुसलमानों और दलितों को बरगलाने के काम को ही अपना दायित्व समझ कर पूरे पांच साल प्रदेश में कदम नहीं रखती हैं। सत्ता में रहने के दौरान बहन मायावती भ्रष्टाचारियों की ढाल बनती हैं और दलितों के नाम पर दौलत इकट्ठा कर अपनी और अपने भाई की निजी तिजोरी भरती हैं। सपा सरकार में देश में सबसे ज्यादा दलित उत्पीड़न की घटनाएं होने पर भी चुप रहती हैं।

श्री मौर्य ने कहा कि पिछले ढाई साल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश के 53 लाख लोगों को मुद्रा ऋण देकर उद्यमी बनाने के साथ 2 करोड़ लोगों को रोजगार युक्त कर बेरोजगारी दूर की। ऐसे नये उद्यमियों में 70 प्रतिशत लाभार्थी महिला और दलित-पिछड़े वर्ग के लोग हैं। पिछले दो साल में मोदी सरकार ने 70 साल की आजादी के बाद भी अंधेरे में जीने को मजबूर देश के 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाने का काम अंतिम चरण में पहुंचा दिया। केन्द्र सरकार की नौकरियों में साक्षात्कार खत्म कर ईमानदारी से योग्य अभ्ययर्थियों को सरकारी नौकरी का रास्ता साफ किया। वहीं अखिलेश यादव की सरकार ने लोक सेवा आयोग जैसी संवैधानिक संस्था को भी लूट-खसोट व भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया। बदमाशों और अपराधियों को अखिलेश सरकार के संरक्षण के कारण प्रदेश में हर चैराहे पर बहन-बेटियों की इज्जत खतरे में पड़ गयी है। सपा सरकार के मंत्री महिलाओं की इज्जत से खेलते हैं और सपा कार्यालय बन गए थानों के प्रभारियों की सरपरस्ती में गुंडे-मवाली और बदमाश महिलाओं व लड़कियों को खुलेआम छेड़ते हैं। राजधानी के वृंदावन कालोनी में महिलाओं के साथ शोहदे लगातार छेड़खानी करते रहे हैं, लेकिन शिकायत के बावजूद पुलिस प्रशासन ने बदमाशों पर हाथ नहीं डाला। मुख्यमं़त्री अखिलेश यादव की नाक के नीचे सरकारी अस्पताल रानी लक्ष्मी बाई अस्पताल में प्रसूता को भगाने के कारण गर्भस्थ शिशु की मौत प्रदेश के अस्पतालों की बदतर स्थिति और व्याप्त अराजकता की पोल खोलती है।

उन्होंने कहा कि एनसीआरबी के आंकड़े के मुताबिक पिछले पांच साल में 1 लाख 30 हजार से ज्यादा महिलाओं के खिलाफ हत्या, दुष्कर्म, छेड़छाड़, अपहरण, मारपीट व अन्य अपराधों के मामले सामने आए हैं। इस शासन में महिलाओं का सड़क पर निकलना दूभर हो गया है। रोजाना व्यापारियों व आम नागरिकों की हत्याएं हो रही हैं। अखिलेश की शह पर सपा के गुंडे मतदाताओं को बेखौफ डरा-धमका रहे हैं और भाजपा कार्यकर्ताओं सहित निर्दोष नागरिकों के साथ मारपीट कर रहे हैं। मौर्य ने कहा कि भाजपा की सरकार बनेगी तो बदमाशों, अपराधियों, बलात्कारियों, भ्रष्टाचारियों भूमाफियाओं के बुरे दिन शुरू हो जाएंगे। बदमाश, लुटेरे, डकैत व भ्रष्टाचारी या तो प्रदेश छोड़कर भाग जाएंगे या जेल के सीखचों के पीछे होंगे। भाजपा डेढ़ लाख पुलिस बल की भर्ती करेगी और महिलाओं की सुरक्षा तीन महिला बटालियन वीरागंना उदा देवी, झलकारी बाई तथा अवन्ती बाई के नाम पर महिला बटालियन बनाई जायेगी तथा एक हजार महिला अफसरों के साथ ही 100 फास्ट ट्रैक अदालतें और छह फोरेंसिक लैब बनाकर महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वालों को सख्त सजा दिलाएगी। साथ प्रदेश के विकास के पथ पर ले जाकर प्रदेश की जनता की तरक्की और अमन-चैन को सुनिश्चित करेगी।