लखनऊ ज़ोनल ट्रायल्स में 12 एथलीटों ने क्वालीफाई किया

लखनऊ ज़ोनल ट्रायल्स में 12 एथलीटों ने क्वालीफाई किया

नई दिल्ली में होने वाले नैशनल ट्रायल्स में मुकाबला करेंगे एथलीट

लखनऊ। एनवाईसीएस गेल रफ्तार सीज़न-2 के लखनऊ में हुए ज़ोनल ट्रायल्स में 12 बच्चों को चुना गया है। यह आयोजन नैशनल युवा कोआॅपरेटिव सोसाइटी के राष्ट्रव्यापी अभियान का हिस्सा है जिसका उद्देश्य 2020 और 2024 ओलम्पिक्स के लिए ऐथलीट खोजना है। उत्तर प्रदेश के जिला ट्रायल्स में 378 बच्चों को चुना गया था। जिन्होंने लखनऊ ज़ोनल ट्रायल्स में भाग लिया जिनमें से 12 बच्चे चुने गए। शार्टलिस्ट किए गए बच्चे नई दिल्ली में होने वाले नैशनल ट्रायल्स में उन एथलीटों से मुकाबला करेंगे जो पंचकुला, गुवाहाटी, मैंगलोर, कटक, हज़ारीबाग, जयपुर व पुणे में हुए ज़ोनल ट्रायल्स में जीत कर आएंगे। नैशनल ट्रायल में राष्ट्रीय चयन समिति में मुख्य रूप से मशहूर पी.टी. ऊषा और श्रीराम सिंह रहेंगे और उनके साथ में प्रतिष्ठित सदस्य ओलम्पियन रचिता मिस्त्री, अनुराधा बिस्वाल और एशियाई व राष्ट्रमंडल खेलों की मेडलिस्ट कविता राउत और वी. मुरलीधरन भी रहेंगे। एनवाईसीएस गेल रफ्तार एक देशव्यापी एक राष्ट्रव्यापी प्रतिभा खोज कार्यक्रम है जो देश भर से उभरती ऐथलेटिक प्रतिभाओं की पहचान, जांच, चयन व पोषण करता है तथा 2020 व 2024 में होने वाले ओलम्पिक खेलों में देश के सपनों को सच करने के लिए उन्हें तैयार करता है। गेल (इंडिया) लिमिटेड द्वारा समर्थित गेल-इंडियन स्पीडस्टार प्रोजेक्ट का देशव्यापी निष्पादन नैशनल युवा कोआॅपरेटिव सोसाइटी द्वारा किया जा रहा है जिसमें 100 मीटर, 200 मीटर व 400 मीटर ट्रैक ईवेंट्स के लिए 11 से 17 वर्ष के बच्चों के ट्रायल होंगे। नैशनल युवा कोआॅपरेटिव सोसाइटी ने इस प्रोजेक्ट के लिए मैसर्स ऐंगलियन मेडल हंट कंपनी को बतौर तकनीकी सहयोगी अपने संग जोड़ा है।