येचुरी ने नोटबंदी को बताया इमरजेंसी की नसबंदी जैसा

येचुरी ने नोटबंदी को बताया इमरजेंसी की नसबंदी जैसा

लखनऊ: भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि भाजपा और आरएसएस तीन तलाक की राजनीति कर रही है, लेकिन दिल्ली में पहले और बिहार में दूसरे तलाक के बाद भाजपा को तीसरा तलाक अब उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में मिलेगा। इसके लिए एक साथ आए वाम दलों का युनाइटेड फ्रंट प्रदेश में भाजपा को हराने में जुटेगा और खुद को इतना मजबूत करेगा कि सदन तक जनता की आवाज और समस्याएं पहुंचा सके।

प्रदेश में 103 सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर चुके वाम मोर्चे के चुनाव को रफ्तार देने के लिए येचुरी आज लखनऊ में थे। माकपा कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में येचुरी ने 2019 के लोकसभा चुनावों के लिहाज से प्रदेश के विधानसभा चुनाव को अहम बताया। उन्होंने कहा कि जहां हमारे प्रत्याशी नहीं होंगे, वहां भाजपा के विरुद्ध जो भी मजबूती से खड़ा होगा, उसका समर्थन किया जाएगा।

नोटबंदी को इमरजेंसी की नसबंदी जैसा ठहराते हुए माकपा महासचिव ने कहा कि नए किस्म की समस्याएं थोपी जा रही हैं, जिससे करोड़ों लोगों की जिंदगी बिगड़ गई है। जबरदस्ती बजट पेश किए जाने को उन्होंने राजनीतिक नैतिकता के खिलाफ और चुनाव को प्रभावित करने वाला कदम बताया और केंद्र सरकार से किसानों का कर्ज माफ करने की मांग की। येचुरी ने कहा कि सपा सरकार प्रदेश में अपेक्षित काम नहीं कर पाई और अल्पसंख्यकों के मामले में भी पिछड़ गई। केरल में वामपंथी व आरएसएस कार्यकर्ताओं में टकराव पर येचुरी ने अशांति और हिंसा के लिए भाजपा व आरएसएस को जिम्मेदार बताया।