हाथी पर सवारी की तैयारी में अंसारी बंधू !

हाथी पर सवारी की तैयारी में अंसारी बंधू !

लखनऊ: समाजवादी पार्टी से टिकट नहीं मिलने के बाद अब डॉन से नेता बने मुख्तार अंसारी बीएसपी का दामन थाम सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक मुख्तार और उनका परिवार बीएसपी के संपर्क में है. बीएसपी मुख्तार के भाई और बेटे को टिकट दे सकती है जबकि खुद मुख्तार अंसारी को मऊ सदर से टिकट दिया जा सकता है. हालांकि बीएसपी इस पर चुप्पी साधे है.

सूत्रों के मुताबिक मौजूदा विधायक सिगबतुल्लाह अंसारी को गाजीपुर के मोहम्मदाबाद से बीएसपी टिकट मिल सकता है. हालांकि बीएसपी अभी मौन साधे हुए है लेकिन अंदर की बात यही है कि इसे लेकर सहमति बन गई है.

बता दें कि मुख्तार बंधुओं को लेकर ही सपा में घमासान की शुरुआत हुई थी. अंसारी बंधुओं की पार्टी कौमी एकता दल के सपा में विलय को लेकर सीएम अखिलेश नाराज थे. पार्टी के विलय में मुलायम के भाई शिवपाल ने अहम भूमिका निभाई थी. अखिलेश-शिवपाल के बीच तकरार की यही सबसे बड़ी वजह भी बनी. शिवपाल ने अपनी लिस्ट में इन्हें टिकट थमाया, लेकिन पार्टी पर अधिकार के बाद अखिलेश ने अंसारी का टिकक काट दिया. तब से इनके निर्दलीय चुनाव लड़ने की खबरें आ रही थीं. लेकिन अब सूत्र बता रहे हैं कि अंसारी बंधु मायावती की शरण में जा सकते हैं.