जल्लीकट्टू: मरीन बीच पर उग्र प्रदर्शन, पुलिस थाना आग के हवाले

जल्लीकट्टू: मरीन बीच पर उग्र प्रदर्शन, पुलिस थाना आग के हवाले

चेन्नई: बेशक जल्लीकट्टू पर केंद्र सरकार ने अध्यादेश को मंजूरी दे दी है, लेकिन इसे लेकर हंगामा-प्रदर्शन अब भी जारी है. आज चेन्नई के मरीना बीच पर ये प्रदर्शन उस वक्त हिंसक हो उठा जब मरीना बीच पर स्थित पुलिस थाने में आग लगा दी गई. पुलिस यहां जमे प्रदर्शनकारियों को सुबह से ही हटा रही थी लेकिन लोग हटने को तैयार नहीं थे.

इस पर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लोगों पर लाठीचार्ज किया. यहां सुबह से ही तनाव का माहौल बना हुआ था. इसी दौरान करीब दोपहर 12 बजे प्रदर्शनकारियों ने आईस हाउस पुलिस थाने में आग लगा दी. इन्होंने थाने के पास खड़ी गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया. पुलिस पर पत्थरबाजी भी की जिसके जवाब में पुलिस ने भी पत्थर फेंके. इसमें 20 लोगों के घायल होने की खबर है.

चेन्नई के मरीना बीच पर हजारों की संख्या में लोग जुटे हुए हैं. इनकी मांग है कि जल्लीकट्टू पर पाबंदी हमेशा के लिए हटाई जाए न कि सिर्फ 6 महीने के लिए. यहां भारी तादाद में पुलिस भी तैनात है. युवाओं का साथ देने मछुआरे भी मरीना बीच पर जमा हो गए हैं. पुलिस इस जगह को खाली कराना चाहती है लेकिन प्रदर्शनकारी अपनी मांग को लेकर डटे हुए हैं और हटने को तैयार नहीं हैं. खास बात ये भी रही कि पुलिस जब इन्हें जबरन हटाने लगी तो इन्होंने राष्ट्रगान गाना शुरू कर दिया. वहीं मदुरई सहित कई अन्य जगहों से भी पुलिस प्रदर्शनकारियों को हटा रही है.

पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए मरीना बीच के एक हिस्से को खाली करा लिया. लोगों का कहना है कि उन्हें पुलिस ने पीटा और जबरदस्ती भगाया जा रहा है. कुछ प्रदर्शनकारियों कहना है कि अगर उन्हें जबरन यहां से हटाया गया तो आत्महत्या कर लेंगे.

वहीं मदुरई के अलंगनाल्लुर और तमुक्कम में प्रदर्शनकारी जल्लीकट्टू पर हमेशा के लिए बैन हटाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. बता दें कि कल अलंगनाल्लुर में जल्लीकट्टू आयोजित किया जाना था. हालांकि सीएम पनीरसेल्वम को इसका उदघाटन नहीं करने दिया गया.

India