अखिलेश-डिंपल ने जारी किया समाजवादी पार्टी का घोषणा पत्र

अखिलेश-डिंपल ने जारी किया समाजवादी पार्टी का घोषणा पत्र

लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी ने आज अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया. पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव, सांसद डिंपल यादव के अलावा पार्टी के अन्‍य नेताओं ने मेनिफेस्‍टो रिलीज किया. यहां यह बात अहम है कि चुनावी घोषणा पत्र जारी किए जाने के दौरान मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव उपस्थित नहीं थे.

इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने पिछले चुनाव में अपने वादों से बढ़-चढ़कर काम किया. साथ ही उन्होंने विरोधी पार्टियों बीएसपी, बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी सरकार पत्थरों वाली सरकार थी जो पूछने पर कुछ बोलते ही नहीं. वहीं बीजेपी पर वार करते हुए अखिलेश ने कहा कि बीजेपी कभी योग करवा देती है तो कभी झाड़ू पकड़ा देती है, लेकिन विकास के वादे तो केंद्र की बीजेपी सरकार भूल गई है.

हम सब मिलकर समाजवादी सरकार बनाना चाहते हैं. पांच महीने आप काम कर लो तो आपको पांच साल की सरकार मिलेगी. अब बहुत कम समय बचा है. आपके पास बताने को बहुत कुछ है. बड़े पैमाने पर काम हुआ है, इससे भी ज्यादा काम करना है. इससे हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत होगी. समाजवादी सरकार ने बहुत काम किया है. मेट्रो बनाई है, एक्सप्रेस वे बनाया. जनता जानती है कि कौन गरीबों-अल्पसंख्यकों का शुभचिंतक है. जिन्होंने अच्छे दिन, सबका साथ-सबका विकास का नारा दिया, तीन साल हो गए, देश की जनता अच्छे दिन ढूंढ़ रही है. विकास के नाम पर झाड़ू दे दी.

जो बात घोषणापत्र में नहीं थी हमने वो भी करके दिखाया है. ऐसे ही काम करने कि आदत है सपाइयों की. नेता जी के आशीर्वाद से मुझे सबसे कम उम्र में सीएम बनने का सौभाग्य मिला. 5 साल तक संतुलित विकास करने का काम किया है. शहरों के साथ गांवों में भी विकास का काम किया है. सपा जानती है कि किसानों का, गरीबों का, मुसलमान भाइयों का शुभचिंतक कौन है. यूपी का चुनाव आ रहा है तो हो सकता है कि बजट में कुछ नया दे दें.

108 और 102 एंबुलेंस शुरू की. देश में कहां ऐसी व्यवस्था है कि 10 से 15 मिनट में पुलिस पहुचती है. जो सपा को वोट नहीं देना चाहते हैं वो एक बार इस सड़क पर चल लें तो साइकिल का बटन दबाने को मजबूर हो जाएंगे. इसी सड़क के किनारे हम मंडी और कौशल विकास का कार्यक्रम चलाने वाले हैं. आपका पराग जो अमूल से भी पुराना है उसे हमने सुधारा है. गांव में विकास का काम हुआ है.

हालांकि इस दौरान अखिलेश यादव ने मंच से सपा के कांग्रेस के गठबंधन को लेकर कोई ऐलान नहीं किया. वैसे सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस का समाजवादी पार्टी से गठबंधन लगभग तय है. कांग्रेस को 105 सीटें मिलेंगी.

यूपी विधानसभा में कुल 403 सीटें हैं. 2012 के विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी ने 224 सीट जीतकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई थी. पिछले चुनावों में बसपा को 80, बीजेपी को 47, कांग्रेस को 28, रालोद को 9 और अन्य को 24 सीटें मिलीं थीं.

-छात्रों को स्मार्टफोन देने का काम जारी रहेगा.

-लोहिया आवास योजना को बढ़ाने का काम करेंगे

-लैपटॉप, कन्याधन जैसी योजनाओं को मजबूती से लागू करेंगे

-1 करोड़ लोगों को 1000 रुपये की मासिक पेंशन देेंगे

-लोहिया पेंशन सीधे अकाउंट में आएगी

-समाजवादी किसान कोष बनाएंगे

-गरीबों को मुफ्त चावल-गेहूं दिया जाएगा

-गरीब महिलाओं को प्रेशर कुकर देंगे ताकि खाना बनाने में कम वक्त लगे

-अल्पसख्यकों को प्रशिक्षण देने के लिए कौशल विकास योजना

-वरिष्ठ नागरिकों के लिए ओल्ड एज होम

-कामकाजी महिलाओं को हॉस्टल

-मजदूरों को रियायती दर पर मिड डे मिल

-गरीबों के मुफ्त इलाज की व्यवस्था करेंगे

-रोडवेज में महिलाओं को किराये में आधी छूट

-आगरा, कानपुर, मेरठ में भी मेट्रो परियोजना लाएंगे

-जानवरों की बीमारी के लिए एंबुलेंस सेवा

-चौकीदारों-होमगार्ड्स के मानदेय में बढ़ोतरी करेंगे

  • प्राथमिक स्कूल के छात्रों को मुफ्त एक किलो घी, एक लीटर दूध पाउडर मिलेगा

-जिला मुख्यालय को फोरलेन से जोड़ेंगे

-जहां अभी 16 से 18 घंटे बिजली दे रहे हैं वहां 24 घंटे बिजली