कानपूर ट्रेन हादसा: IED से उड़ाई गयी थी पटरी

कानपूर ट्रेन हादसा: IED से उड़ाई गयी थी पटरी

DGP ने आईजी एटीएस व आईजी रेल्वे को मोतीहारी भेजा

लखनऊ: कानपूर में हुए ट्रेन हादसे में ISI की संलिप्तता और मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद आईजी एटीएस व आईजी रेल्वे को मोतीहारी भेजा गया। ATS टीम ने मोतीहारी में गिरफ्तार अभियुक्तों से आज और कल पूछताछ की। पूछताछ के दौरान अभियुक्त मोती लाल पासवान ने बताया कि उसने 7 अन्य लोगों के साथ मिलकर 2 बार कानपुर के पास रेल पटरी को नुकसान पहुंचाया गया। इसके लिए प्रैशर कुकर (10 लिटर) में विस्फोटक भर कर IED तैयार किया गया था। उसके बयान से प्राप्त जानकारी को verify किया जा रहा है। इसके लिए पुखराया और रूरा में पुनः फोरेंसिक परीक्षण द्वारा पता किया जाएगा कि क्या वहाँ विस्फोटक के प्रयोग के कोई प्रमाण हैं। मोती पासवान के अनुसार इसका मास्टरमाइंड ब्रज किशोर गिरि है और वह स्वयं 7 लोगों को lead कर रहा था। गिरि नेपाल पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है (हत्या के आरोप में) और काठमांडू में अस्पताल में है। उसकी संलिप्तता के बारे में जानकारी करने का प्रयास किया जा रहा है। इनके अतिरिक्त 6 अन्य लोग (जिनमे से केवल 2 को मोती जानता है- राकेश यादव और गजेंद्र शर्मा) को चिह्नित करने का प्रयास किया जा रहा है ताकि उनसे पूछताछ की जा सके। श्री एलवी एंटनी देवाकुमार व जीआरपी के अन्य अधिकारी ने भी पूछताछ की। एटीएस के पुलिस उपधीक्षक श्री मनीष सोनकर भी शामिल थे। आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया “मोतीहारी में गिरफ्तार मोतीलाल पासवान से पूछताछ की गई। प्राप्त जानकारी को फोरेंसिक परीक्षण, रेल विभाग के परीक्षण, फोन विश्लेषण, अन्य लोगों के बयानों से verify कराया जा रहा है। सबूतों के आधार पर आगे कार्यवाही की जाएगी।“

Lucknow, Uttar Pradesh, India