वोडाफोन M-pesa सीखा रहा है कैशलेस जीवन के तरीके

वोडाफोन M-pesa सीखा रहा है कैशलेस जीवन के तरीके

लखनऊ: भारत के प्रमुख दूरसंचार सेवा प्रदाता वोडाफोन इण्डिया ने नोटबंदी के बाद मौजूदा हालात में कैशलैस तरीकों के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए एक अनूठा प्रयत्न कर रहे हैं। वोडाफोन ड.चमें की गो-कैशलैस ड्राइव 50 दिनों में यूपी ईस्ट के 47 ज़िलों को कवर कर रही है, हर व्यक्ति को मोबाइल वॉलेट के इस्तेमाल के तरीकों और फायदों के बार में जागरुक बनाना इस पहल का मुख्य उद्देश्य है।

गो-कैशलैस ड्राइव अभियान के तहत वोडाफोन के 16 कर्मचारी 50 दिनों के लिए बिना कैश के ज़िन्दगी बिता रहे हैं। वोडाफोन के ये कर्मचारी यूपी ईस्ट के 47 ज़िलों की यात्रा पर हैं और नागरिकों से बातचीत करके उन्हें मोबाइल वॉलेट के इस्तेमाल के तरीकों और फायदों के बारे में जानकारी दे रहे हैं। ये कर्मचारी लोगों को बता रहे हैं कि कैसे वोडाफोन ड.चमें का इस्तेमाल रोज़ाना के छोटे-मोटे लेनदेनों के लिए किया जा सकता है, कैसे रोज़ाना चाय, स्नैक्स, राशन खरीदना, टैक्सी/ ऑटो का किराया चुकाना ड.चमें से बेहद आसान हो सकता है।

अब तक ये कर्मचारी 8000 किलोमीटर से अधिक यात्रा करते हुए 26 ज़िले कवर कर चुके हैं इनमें बहराईच, वाराणसी, आजमगढ़, शाहजहांपुर, हरदोई, लखनऊ, कानपुर, उन्नाव, कानपुर देहात, झांसी, महोबा, हमीरपुर, ललितपुर, जालौन, रायबरेली, सुल्तानपुर, बांदा, फतेहपुर, इलाहाबाद, प्रतापगढ़, चित्रकूट, कौशाम्बी, फैज़ाबाद, बस्ती, गोंडा और श्रावस्ती शामिल हैं।