सुल्तानपुर: नए साल पर प्रेमी ने दिया था मौत का गिफ्ट

सुल्तानपुर। कूरेभार के छिताई पाठक का पुरवा जुड़ा पट्टी गांव में भानु प्रताप सिंह की 19 वर्षीय बेटी नेहा की हत्या किसी और ने नही बल्कि उसी के प्रेमी ने किया था। निर्मम हत्या के बाद प्रेमी और घर की मालकिन ग्राम पंचायत सदस्य न्यारा देवी फरार हो गये थे। पुलिस ने सर्विलांस से न्यारा देवी को पकड़ा तो उसने सारे राज उगल दिया। न्यारा देवी ने चैकाने वाला खुलासा किया। पुलिस के मुताबिक नेहा बहाने से न्यारा देवी के घर नए वर्ष पर प्रेमी से मिलने के लिए गयी थी। नेहा की शादी तय हो चुकी थी। पे्रमी उससे भगाकर शादी करना चाहता था। विरोध करने पर प्रेमी ने नेहा के गले पर आठ और सीने पर तीन जगहों पर पेंचकस से प्रहार किया था। मौत के घाट उतारने के बाद न्यारा देवी और प्रेमी मौके से भाग निकले थे। लाश ठिकाने लगाने के पहले ही पुलिस मौके पर पहुंच गयी थी।

दो जनवरी को पड़ोस के रहने वाली न्यारा देवी पत्नी शत्रुघन यादव के घर में नेहा 19 वर्ष पुत्री भानू प्रताप सिंह की लाश मिली थी। एक जनवरी की सुबह करीब 9 बजे पड़ोस की रहने वाली न्यारा देवी नेहा को बुलाकर अपने घर ले गयी थी और उससे उधार रूपये की माँग किया था। नेहा घर से रूपए लेकर निकली थी। काफी देर बीत जाने के बाद जब नेहा घर नही पहुची तो परिजन नेहा को ढूढ़ने न्यारा देवी के घर गये, लेकिन घर के दरवाजे में बाहर से ताला लगा हुआ मिला। नेहा व न्यारा देवी का मोबाईल भी बन्द मिला। सोमवार की सुबह न्यारा देवी के पड़ोसी अशोक यादव का नौ वर्षीय पुत्र आयुष जो अपने घर की छत पर गया था। नीचे आने पर उसने बताया कि न्यारा देवी के घर में किसी का पैर दिख रहा है। घर में बाहर से ताला बंद और घर के अंदर किसी का होने की जानकारी मिलते ही आस पास के लोगो ने इसकी सूचना भानू प्रताप के परिजनों को दी थी। सूचना मिलते ही परिजन न्यारा देवी की घर की आँगन से उतर कर देखा तो नेहा लहूलुहान हालत में चारपाई पर पड़ी थी।

नेहा की शादी दीपक सिंह निआवा खजुरहट जिला फैजाबाद के साथ तय की थी। बीते 16 नवम्बर को गोद भराई की रस्म सम्पन हुई थी और उसकी शादी 4 मई 2017 को होनी थी।

थानाध्यक्ष नंद कुमार ने बताया कि फरार चल रहे प्रेमी को जल्द पकड़ लिया जाएगा। उसकी गिरफतारी के लिए पुलिस टीम लगी है।

Uttar Pradesh, India