धोनी ने वनडे, टी-20 टीम की कप्‍तानी छोड़ी

धोनी ने वनडे, टी-20 टीम की कप्‍तानी छोड़ी

नई दिल्ली: महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय वनडे और टी-20 टीम की कप्‍तानी छोड़ दी है। माना जा रहा है कि टेस्‍ट कप्‍तान विराट कोहली को तीनों फॉर्मेट की कमान सौंपी जा सकती है। बीसीसीआई ने बुधवार शाम को जारी बयान में कहा कि धोनी इंग्‍लैंड के खिलाफ होने वाली वनडे और टी-20 श्रृंखला में विकेटकीपर-बल्‍लेबाज के तौर पर चयन के लिए उपलब्‍ध रहेंगे। चयनकर्ता 6 जनवरी को मुंबई में इस सीरीज के लिए टीम चुनेंगे।

महेंद्र सिंह धोनी का टैस्ट कॅरियर: 90 टैस्ट मैच में 144 पारी, 4876 रन, 224 उच्चतम स्कोर, बल्लेबाजी औसत 38.09, स्ट्राइक रेट 59.11, 6 शतक और 33 अर्द्धशतक

महेंद्र सिंह धोनी का वनडे कॅरियर: 283 वनडे मैच में 246 पारी, 9110 रन, 183 (नाबाद) उच्चतम स्कोर, बल्लेबाजी औसत 50.89, स्ट्राइक रेट 88.80, 9 शतक और 61 अर्द्धशतक

महेंद्र सिंह धोनी ने 73 टी-20 मैचों में भारत की अगुआई की है, जिसमें भारत ने 41 मैच जीते हैं। एक कप्तान द्वारा सबसे ज्यादा टी-20 मैच जीतने का रिकॉर्ड भी धोनी के ही नाम है। धोनी के बाद इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर वेस्टइंडीज के डैरन सैमी हैं, जिन्होंने बतौर कप्तान 27 मैच खेले हैं।

वनडे में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी महेंद्र सिंह के खाते में दर्ज है। उन्होंने 2004 से लेकर 2016 तक 283 वनडे मैचों में 197 छक्के लगाए हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड भारत के सचिन तेंडुलकर के नाम था, जिन्होंने 463 वन डे मैचों में 195 छक्के लगाए थे।

283 मैचों में धोनी ने 9 शतक लगाए हैं। नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने 2 शतक लगाए हैं, जो इस नंबर पर खेलने वाले खिलाड़ी द्वारा सबसे ज्यादा है। उन्होंने एक शतक 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ और दूसरा 2007 में एशिया इलेवन और अफ्रीका इलेवन के बीच खेले गए मैच में लगाया था। अब तक 12 बल्लेबाजों ने अपने देश से नंबर सात पर बल्लेबाजी करते हुए शतक लगाया है।

धोनी को सिर्फ उनकी कप्तानी के लिए ही जाना नहीं जाता, बल्कि विकेट के पीछे उनकी काबिलियन का लोहा बड़े-बड़े क्रिकेटर भी मानते हैं। कुल 439 इंटरनैशनल मैचों में उन्होंने 152 बल्लेबाजों को स्टंप आउट किया है। अब तक कुल 3 ही एेसे विकेटकीपर हैं जिन्होंने 100 से ज्यादा खिलाड़ियों को स्टंप आउट किया है। धोनी ने 31 अक्टूबर 2015 को जयपुर वन डे में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 183 रन बनाए थे। यह किसी भी विकेटकीपर बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है। इस मैच में उन्होंने 10 छक्के और 15 चौके लगाए थे। इससे पहले यह रिकॉर्ड अॉस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट के नाम था।

यह एक अनोखा ही रिकॉर्ड है। 73 टी-20 मैचों में धोनी ने कुल 1112 रन बनाए हैं, जो टी-20 में किसी भी कप्तान द्वारा बनाए गए सबसे ज्यादा रन हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 48 है यानी उन्होंने अब तक एक भी हाफ सेंचुरी नहीं लगाई है। तो यह रिकॉर्ड हुआ बतौर कप्तान बिना हाफ सेंचुरी बनाए सर्वाधिक रन बनाने का। बिना अर्धशतक लगाए सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड धोनी के बाद आयरलैंड के गैरी विलसन का है। यूं तो धोनी विकेटकीपिंग और बैटिंग ही करते हैं, लेकिन उन्होंने बतौर विकेटकीपर भी सबसे ज्यादा बार बॉलिंग की है। धोनी ने विकेटकीपर रहते हुए 132 गेंदें डालीं और 1 विकेट भी लिया।

धोनी विश्व के दूसरे एेसे कप्तान हैं, जिनकी अगुआई में देश ने 100 से ज्यादा बार वन डे में जीत हासिल की है। अक्टूबर 2016 तक भारत उनकी कप्तानी में 108 वनडे जीत चुका है। रिकी पॉन्टिंग और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग के बाद वह तीसरे एेसे कप्तान हैं, जिन्होंने 300 से ज्यादा इंटरनैशनल मैचों में भारत के लिए कप्तानी की है।

धोनी इकलौते एेसे भारतीय विकेटकीपर हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में डबल सेंचुरी बनाई है। धोनी विश्व के इकलौते कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी की तीनों ट्रॉफी-टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 आईसीसी वर्ल्ड कप, और 2013 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीती हैं।

जबसे धोनी ने कप्तानी संभाली थी, उससे लेकर अगले 11 टेस्ट मैच तक भारत कोई टेस्ट नहीं हारा था।