प्रदेश सरकार ने 1700 करोड़ रूपये देकर सहकारी बैंकों को पुनः चालू कराया: शिवपाल यादव

प्रदेश सरकार ने 1700 करोड़ रूपये देकर सहकारी बैंकों को पुनः चालू कराया: शिवपाल यादव

लखनऊ: प्रदेश के लोकनिर्माण, सिंचाई, भूमि विकास एवं जल संसाधन, परती भूमि विकास, सहकारिता विभाग एवं राजस्व मन्त्री शिवपाल सिंह यादव ने जनपद कानपुर देहात की नवसृजित तहसील मैथा शिलान्यास तथा तहसील के रूप में कार्य कर रही उसका भी उद्घाटन सहित लगभग 115 करोड़ लागत की 52 परियोजनाओं व विकासकार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इसके अलावा रनियाॅं व मैथा नगर पंचायत बनाने की सिफारिश नगर विकास मन्त्री से करने का आश्वासन भी दिया। लेफ्ट कैनाल योजना जो पूर्व में 75 करोड़ रू0 की थी इसको भी शीघ्र पूरा कराया जाएगा। उन्होने कहा कि विकास व निर्माण कार्यों को गुणवत्ता व गति के साथ युद्ध स्तर पर पूरा किया जाए। लोकनिर्माण मन्त्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने दो वर्षों के अन्दर प्रदेश में मैथा तहसील 41वीं तहसील है जिसका शिलान्यास किया जा रहा है। पूर्व की सरकारों ने ऐसा कार्य कभी नहीं किया। गांव गरीब, किसानों का काम तहसील ब्लाक व थाने से होता है। तहसील, थाना व ब्लाक सही कार्य करेंगे तो समस्याओं व उनके निबटान में कमी आएगी। सरकार का उद्देश्य है कि किसान व गरीब को किसी भी प्रकार की समस्या न हो तथा उनकी समस्याओं का तत्काल निराकरण हो। प्रदेश सरकार ने विकास के क्षेत्र में कभी भी किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया। विगत 4 वर्षों में जनपद के विकास हेतु 447 करोड़ रूपये खर्च किए। सरकार ने बेरोजगारी भत्ता, शिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार, कन्या विद्याधन, कौशल विकास योजना, समाजवादी पेंशन योजना आदि सहित कई योजनाओं को संचालित किया तथा आमजन को लाभान्वित किया। दवाई, पढ़ाई तथा सिंचाई देश के किसी भी राज्य में मुफ्त नहीं है परन्तु उत्तरप्रदेश में ऐसा नहीं है। सरकार ने किसानों के कर्ज माफ किए। सहकारिता बैंक जो कि बन्द हो चुकीं थीं उन्हें पुर्नजीवित किया। सहकारिता की 25 बैंकों का लाइसेंस रद्द किया जा चुका था तथा शाखाएं पूर्ण रूपेण बन्द थीं। सरकार ने उन्हें पुनः संचालित करवाया तथा लाइसेंस जारी किया। सरकार ने 1700 करोड़ रू0 का बजट देकर बैंकें संचालित करने का काम किया। उन्होंने आमजन से कहा कि वे विकासकार्यों वव बजट की भी ध्यान रखें। यदि कहीं कोई कमी रह जाती है तो उसे अवश्य अवगत कराएं। इस मौके पर लोकनिर्माण मन्त्री को स्मृति चिन्ह, मुकुट, तलवार, राधा-कृष्ण की मूर्ति आदि देकर सम्मालित किया गया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India