कुंबले बने टीम इंडिया के नए कोच

कुंबले बने टीम इंडिया के नए कोच

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अनिल कुंबले को टीम इंडिया का नया हेड कोच नियुक्त किया है। वो टीम इंडिया के 11वें कोच होंगे। इसके साथ ही टीम के कोच के लिए महीनों से चल रही जद्दोजद भी खत्म हो गई। वह अगले एक साल के लिए इस पद पर बने रहेंगे। इस मौके पर बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा है कि अनिल कुंबले महानतम स्पिनर हैं, वो टीम इंडिया के लिए बेहतर कोच साबित होंगे। बीसीसीआई ने बल्लेबाजी कोच, गेंदबाजी कोच, फील्डिंग कोच के नाम की घोषणा नहीं की है। बता दें कि 2015 में जिंबाब्वे के डंकन फ्लैचर के जाने के बाद राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच का पद पिछले एक साल से खाली पड़ा था। और 16 साल बाद कोई भारतीय बना टीम इंडिया का मुख्य कोच बना है।
इससे पहले बीसीसीआई की क्रिकेट एडवाईजरी कमेटी जिसमें सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण जैसे नाम शामिल हैं, अनिल कुंबले के कटेंट से काफी प्रभावित हुए थे। कमेटी में शामिल तीनों ही क्रिकेटरों ने बीसीसीआई द्वारा चयन किए गए 8 खिलाड़ियों का इंटरव्यू लिया और वे कुंबले का प्रेजेंटेशन काफी बेहतरीन लगा। गौरतलब है कि कुंबले ने भारतीय क्रिकेट के भविष्य पर अपनी रणनीति और रोडमैप को इन धुरंधरों के साथ साझा किया था। कुंबले के ब्लूप्रिंट से प्रभावित होकर उनके नाम को बीसीसीआई के पास भेजा जा चुका है। सूत्रों ने बताया कि टीम इंडिया के पूर्व डायरेक्टर रवि शास्त्री ने कोई प्रेजेंटेशन तैयार नहीं की थी लेकिन उन्होंने काफी गंभीरता से भारतीय क्रिकेट के भविष्य़ और अपनी रणनीति पर काफी बारीकी में बात की। गौरतलब है कि भारत टी20 विश्व कप के बाद से एक हेड कोच की तलाश में थी। जिंबाब्वे दौरे के लिए संजय बांगर को कोच बनाया गया था। बीसीसीआई ने इस हाई प्रोफाइल पद के लिए 1 जून को विज्ञापन दिया था और करीब 57 लोगों ने इस पद के लिए अप्लाई किया था। कोच नियुक्त किए जाने के बाद अनिल कुंबले ने जहां भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को शुक्रिया कहा, वहीं इसे एक सम्मान की बात और बड़ी जिम्मेदारी बताया। उन्होंने यह भी कहा कि वह इस चुनौती के लिए तैयार हैं। अब कुंबले को अगले महीने भारतीय टीम के वेस्टइंडीज दौरे से ही नई जिम्मेदारी संभालनी होगी। कोच बनाए जाने के बाद संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कुंबले ने कहा कि उनके पास टीम के लिए कुछ प्लान हैं। उन्होंने कहा, "मैं कोच बनाए जाने पर बीसीसीआई को धन्यवाद देता हूं। मैं इस पद के लिए पूरी तरह तैयार हूं। टीम को लेकर मेरे पास कुछ प्लान हैं।" कुंबले ने कहा, "मैं यह जिम्मेदारी मिलने से सम्मानित महूसस कर रहा हूं। मैं मानता हूं कि अब समय आ गया है कि मैं अपने देश को वापस कुछ दूं। मैंने इस मामले में अपने परिवार से भी बात की है। लगातार सफर करना आसान नहीं होता। मेरा परिवार इसमें मेरे साथ है।" कुंबले ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के नये मुख्य कोच के रूप में उन्हें अपनी भूमिका पीछे से निभानी होगी क्योंकि वे खिलाड़ी होंगे जो आगे रहेंगे। कुंबले ने बीसीसीआई की आधिकारिक घोषणा के बाद पत्रकारों से कहा, ‘‘यह बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। मैं हमेशा किसी भी चुनौती के लिये तैयार रहा हूं। कोच को अपनी भूमिका पीछे से निभानी होती है और वे खिलाड़ी हैं जो आगे रहेंगे। मैं इस भूमिका के लिये तैयार हूं।’’ कोच का चयन सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की क्रिकेट सलाहकार समिति की सिफारिश पर किया गया। कुंबले ने कहा, ‘‘यह भारतीय क्रिकेट के लिये बहुत अच्छा समय है। मैं सौरव, सचिन, वीवीएस और राहुल (द्रविड़) के साथ लंबे समय तक खेला हूं। राहुल जूनियर टीम से जुड़े हैं। हम पांचों के बीच मैदान के अंदर और बाहर बहुत अच्छे रिश्ते रहे हैं। मैं उनके साथ फिर से काम करने को लेकर उत्साहित हूं।’’ कुंबले इस समय कर्नाटक क्रिकेट संघ के अध्यक्ष हैं। ऐसे में हितों के टकराव पर कुंबले ने कहा कि इस मामले में बीसीसीआई और उनके बीच बातचीत हो चुकी है। कुंबले ने कहा, "हमने इस मामले में पहले ही बात कर ली है। मेरे आधिकारिक तौर पर कोच की जिम्मेदारी लेने से पहले इसको लेकर जो जरूरी होगा वह किया जाएगा।"