किसानों के आक्रोश के आगे प्रशासन नतमस्तक, मानी सभी मांगे

किसानों के आक्रोश के आगे प्रशासन नतमस्तक, मानी सभी मांगे

बुलन्दशहर: विगत कई दिनों से जनपद बुलन्दशहर के गांव झाझर में चकबंदी अधिकारियों द्वारा कि गयी अनियमित्ताओं से उपजे आक्रोश तथा किसान व गरीबों पर दर्ज किये गये मुकद्दमों के चलते आंदोलित किसानों का सब्र उस वक्त टूट गया, जब पुलिस व प्रशासन के लोगों ने धरना दे रहे किसान व महिलाओं को धमकाना शुरू कर दिया तथा धरना समाप्त न करने पर उनपर रासुका जैसी धारायें लगाये जाने की धमकी दी। लाचार किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल वरिष्ठ किसान नेता व उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता ठाकुर धीरेन्द्र सिंह से मिला और मदद किये जाने का आग्रह किया। गरीब लोगों पर हो रहे अत्याचार और प्रशासन द्वारा किये जा रहे उत्पीडन को देखते हुए ठाकुर धीरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में आज दिनांक 23 जून 2016 को सैंकडों की तादात में सुबह से ही धरना स्थल पर पहुॅच गये। ठाकुर धीरेन्द्र सिंह ने धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि ’’प्रशासन के लोग अपने आप को ब्रिटिश काल का अधिकारी न समझे। आज देश में संविधान ने एक आम आदमी को वहीं अधिकार दिया है, जो इस देश के राष्ट्रपति को दिया है। अपने कार्यालयों में किसानों को बुलाकर, धमकाकर उनसे बात करना, नौकरशाहों के लिए मर्यादित नही कहा जा सकता, उन्हे अपनी सीमाओं में रहते हुए, जनता में बढ रहे उनके प्रति अविश्वास की खाई को पाटने का काम करना चाहिए न कि अपनी हनक में उन्हे धमकी देना चाहिए। अगर जनपद बुलन्दशहर प्रशासन के लोगों संवेदनशील होते और जनता से निरंतर संवाद रखते तो आज सैंकडों किसानों को इस भयंकर गर्मी में अपने हकों की आवाज न उठानी पडती। जब तक किसानों पर दर्ज मुकद्दमें वापिस नही किया जायेगे तथा चकबंदी विभाग द्वारा की गयी अनियमित्ताओं को दूर नही किया जायेगा, तब तक यह संघर्ष जारी रहेगा।’’ किसानों की भारी भीड और आक्रोश को भांपते हुए उपजिलाधिकारी सिकन्द्राबाद श्री अतुल कुमार और पुलिस क्षेत्राधिकारी सिकन्द्राबाद श्री धर्मेन्द्र कुमार यादव को धरनारत जनता के बीच में आकर जमीन पर बैठकर उनकी मांगों को मानने का ऐलान भी करना पडा। उपजिलाधिकारी सिकन्द्राबाद श्री अतुल कुमार ने सैंकडों किसानों के समक्ष चकबंदी विभाग द्वारा कि गयी अनियमित्ताओं को दूर करने और चकबंदी को समाप्त किये जाने का प्रस्ताव शासन को भेजे जाने की घोषणा की। धरनारत किसानों के प्रतिनिधिमंडल से वार्ता में पुलिस क्षेत्राधिकारी श्री धर्मेन्द्र कुमार यादव ने किसानों पर दर्ज सभी मुकदमें समाप्त किये जाने का वादा किया। किसानों की मांगे मान लिये जाने की घोषणा के उपरान्त ठाकुर धीरेन्द्र सिंह ने प्रशासन को 12 दिन का अल्टीमेटम देते हुए धरना समाप्त का ऐलान करते हुए कहा कि ’’अगर दी गयी समयावधि में दोनों समस्याओं का समाधान नही किया तो 08 जुलाई 2016 से इसी जगह पर भारी तादात में किसान इकटठा होकर पुनः धरना शुरू कर देंगे तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री व नेता जी मा0 मुलायम सिंह का भी जंतर-मंतर उनके आवास का घेराव करेंगे।’’ श्री त्रिलोकचंद, जगत सिंह सोलंकी, प्रताप सिंह, चंदरभान मलिक, मौज्जम खान, नरेन्द्र फौजी, आदि अनेकों वक्ताओं ने सम्बोधित किया। जेवर बार एसाोसिएशन के अध्यक्ष श्री अनिल छौंकर ने भी किसानों के पक्ष में धरना समाप्ति के समर्थन पत्र को पढकर सुनाया। किसानों ने 11 सदस्यों की एक समिति का भी गठन किया है, जो प्रशासन द्वारा किये गये वादों की प्रगति पर नजर रखेगी।

Uttar Pradesh, India