मुलायम सिंह पर निरंजन ज्योति का बयान हास्यास्पद: शिवपाल

मुलायम सिंह पर निरंजन ज्योति का बयान हास्यास्पद: शिवपाल

लखनऊ: इलाहाबाद में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव पर केन्द्रीय मंत्री निरंजन ज्योति के बयान को हास्यास्पद बताते हुए सपा प्रभारी शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि नेता जी मुलायम सिंह यादव के बारे में साध्वी निरंजन ज्योति को कुछ पता नहीं है। निरंजन ज्योति जैसी छोटी सोच के नेताओं को मुलायम सिंह सदृश नेता पर तथ्यहीन टिप्पणी करने से पहले अध्ययन व सोच विचार कर लेना चाहिए। वे अपने आप को साध्वी कहती हैं और एक संवैधानिक पद पर है, उन्होंने संतत्व, संसद एवं सियासत, तीनों की गरिमा व गुरुत्व को गिराया है। उन्हें कम से कम योग दिवस के दिन विभाजनकारी व विषाक्त वाणी से बचना चाहिए था। नेता जी बाल काल से ही योग, कुश्ती और किसानी से जुड़े हुए है, उन्होंने आनर्थक और भागिरथ प्रयास कर महान स्वतंत्रा सेनानी और समाजवादी चिन्तक लोहिया जी के जाने के बाद देश में समाजवादी विचारधारा और समाजिक सद्भाव के परचम को कमजोर नहीं पड़ने दिया। वे आज 77 वर्ष की अवस्था में भी 17 घंटा काम करते हैं। इतनी मेहनत कोई योगी ही कर सकता है, एक या दो घंटे के लिए मीडिया के कैमरों के सामने योग का नाटक करने वाली जमात पता ही नहीं कि योगी और कर्मयोगी कैसे होते हैं। शिवपाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी, आर0एस0एस0 और अन्य साम्प्रदायिक ताकतों को पता है कि उन्हें रोकने की क्षमता सिर्फ मुलायम सिंह यादव में है और समाजवादी पार्टी ही उनके भ्रष्टाचार, लूट और कब्जे से देश-प्रदेश को बचाने के लिए सदैव लडती रही है एवं लड़ रही है। सपा प्रभारी ने कहा कि साध्वी निरंजन ज्योति इसके पहले भी गैर-जिम्मेदाराना बयान देकर मुद्दांे से भटकती व भटकाती रही हैं। इस तरह के नकारात्मक बयानों से राजनीति की गरिमा गिरती हैं और समाज में राजनीतिक जमात के प्रति गलत दृष्टिकोण विकसित होता है। आर0एस0एस0 की रहस्यमयी चुप्पी कहीं न कहीं संदेह पैदा करता है। नेता जी का विराट व्यक्तित्व साध्वी जैसे नेताओ के बयान से न घटने वाला अपितु इस तरह के बयानबाजियों से भारतीय जनता पार्टी की ही स्थिति हास्यास्पद होती है। शुचिता, सिद्धान्त, राष्ट्रवाद, दीनदयाल उपाध्याय, ज्ञान व विद्वता की दोहाई देने वाली भाजपा की कलई अब जनता के सामने खुल चुकी हैं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India