मशाल जुलूस  निकालकर मुख्यमंत्री से मांगे पूरी करने की मांग

मशाल जुलूस निकालकर मुख्यमंत्री से मांगे पूरी करने की मांग

लखनऊ । राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उ0प्र0 की स्थापना के 50वें वर्ष पर राज्य कर्मचारियों ने कर्मचारी नेता स्वर्गीय बी0एन0सिंह की प्रतिमा स्थल ’’कर्मचारी-प्रेरणा स्थल’’ से मशाल जुलूस  निकालकर जिलाधिकारी लखनऊ के माध्यम से मुख्यमंत्री  को मांगों का ज्ञापन प्रेषित किया गया। 

स्थापना के 50वें वर्ष पर प्रदेश भर में धरना प्रदर्शन कर जिलाधिकारियों के माध्यम से मुख्यमंत्री उ0प्र0 को ज्ञापन भेजा गया। परिषद द्वारा प्रेषित मांग-पत्र में मुख्य रूप से केन्द्रीय कर्मचारियों की भांति समस्त भत्ते प्रदान किये जाने, पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने, निजीकरण, आउटसोर्सिंग पूर्णतः समाप्त करके, नियमित नियुक्ति करने, ग्रेच्युटी की सीमा बढ़ाकर 15 लाख करने, उपार्जित अवकाश की संख्या 300 से बढ़ाकर 600 दिन संचित करने, वेतन समिति की संस्तुति के अनुसार संवर्गों की वेतन विसंगतियाॅ दूर करने, फील्ड कर्मचारियों को वाहन भत्ता प्रदान करने, 8, 16 व 24 वर्षों की सेवा पर तीन पदोन्नति वेतनमान प्रदान करने, ए0सी0पी0 में धारित पद की बाध्यता समाप्त करने, जून 1991 के बाद नियुक्ति दैनिक वेतन भोगी/ वर्कचार्ज व कार्यप्रभारित नियमित किये जाने, तदर्थ, अंशकालीन, सामयिक, वर्कचार्ज दैैनिक वेतन भोगी, अतिथिवक्ताओं द्वारा पूर्व में की गई सेवाओं को जोड़कर सेवा लाभ दिये जाने, सभी कर्मचारियों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा एस0जी0पी0जी0आई0 तथा अन्य शोध संस्थाओं में प्रदान किये जाने, रिक्त पदों पर तत्काल भर्ती करने, चतुर्थ श्रेणी के रिक्त पदों पर लागू रोक हटाने निगमों में कार्यरत कर्मचारियों को राज्य कर्मचारियों की भांति समस्त सेवा लाभ दिये जाने उन्हें सार्वजनिक उद्यम ब्यूरो से मुक्त करने, कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति 62 वर्ष करने जी0पी0एफ0 पास बुक के प्रत्येक उद्देश्य के लिए अन्तिम अभिलेख घोषित करने, परिवहन निगम की बसों में राज्य कर्मचारियों को निःशुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान करने आदि मांगों को लेकर आक्रोशित दिखें। वर्ष भर चलने वाले कार्यक्रमों की शुरूआत करते हुए परिषद के प्रदेश अध्यक्ष हरि किशोर तिवारी ने सरकार से कर्मचारियों की मांगों पर शीघ्र कार्यवाही न किये जाने पर गहरा आक्रोश व्यक्त किया। केन्द्र के समान भत्तों के लिए परिषद को लम्बी लड़ाई के लिए तैयारी करके आर-पार की लड़ाई लड़ी जाने की घोषणा की। इसके लिए जनपदों में बड़े स्तर पर तैयारी की जायेगी।  

इस अवसर पर वरिष्ठ कर्मचारी नेता श्री बी.पी. मिश्रा भी उपस्थित थे। कर्मचारी नेता सुरेश रावत, सुभाष चन्द्र श्रीवास्तव, आर0पी0मिश्रा,  बी0एस0डोलिया, संजीव गुप्ता, अमिता त्रिपाठी, मधौराम, आनंद सिंह, विनय श्रीवास्तव, गिरीश पाण्डेय,  अशोक दूबे  आर0आर0चैधरी, जे0पी0नायक, आर0के0पी0सिंह, राममनोहर कुशवाहा, एच0बी0मिश्रा, डी0डी0त्रिपाठी, अमरजीत मिश्रा, विनय कुमार श्रीवास्तव, धर्मपाल साहू, जितेन्द्र कुमार, धर्मेन्द्र सिंह, अशोक सिंह, परमात्मा शरण,बृज¢श कुमार श्रीवास्तव, राजित राम, संतोष मिश्रा, परिषद के सदस्य उपस्थित रहे।  

Lucknow, Uttar Pradesh, India