अफगानिस्तान की स्कॉटलैंड पर रोमांचक जीत

अफगानिस्तान की स्कॉटलैंड पर रोमांचक जीत

डुनेडिन : सामिउल्लाह शेनवारी की कैरियर की सर्वश्रेष्ठ 96 रन की पारी की मदद से अफगानिस्तान ने विश्व कप के रोमांचक मुकाबले में आज स्काटलैंड को तीन गेंद बाकी रहते एक विकेट से हराकर टूर्नामेंट में पहली जीत दर्ज की।

पहली बार विश्व कप खेल रहे अफगानिस्तान ने 211 रन का लक्ष्य 29.3 ओवर में हासिल करके युद्ध की विभीषिका झेल चुके अपने देशवासियों को जश्न मनाने का मौका दिया।

अपने कई साथी खिलाड़ियों की तरह शरणार्थी शिविरों में क्रिकेट का ककहरा सीखने वाले सामिउल्लाह शेनवारी ने 96 रन की पारी खेलकर टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया। एक समय पर उसके सात विकेट सिर्फ 97 रन पर गिर गए थे। जावेद अहमदी ने 51 रन का योगदान दिया जबकि पुछल्ले बल्लेबाज शापूर जदरान ने विजयी रन बनाये।

तीसरी बार विश्व कप खेल रहे स्काटलैंड की यह 11 मैचों में 11वीं हार थी। टास जीतकर पहले गेंदबाजी का अफगानिस्तान का फैसला हालांकि सही साबित होता दिख रहा था जब स्काटलैंड के शुरुआती विकेट जल्दी गिर गए। नौवें विकेट के लिये हालांकि 62 रन की साझेदारी की मदद से स्काटलैंड ने पहली बार विश्व कप में 200 रन का आंकड़ा पार किया। इससे पहले उसका सर्वोच्च स्कोर 186 रन था जो उसने 2007 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था।

स्काटलैंड के बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत की लेकिन उन्हें बड़ी पारियों में नहीं बदल सके। अफगानिस्तान के लिये बायें हाथ के तेज गेंदबाज शापूर जदरान ने 38 रन देकर चार विकेट लिये। दौलत जदान ने 29 रन देकर तीन विकेट चटकाये।

उन्होंने दूसरे ही ओवर में कालम मैकलियोड को खाता खोले बिना पवेलियन रवाना किया। उनका कैच बैकवर्ड प्वाइंट पर नजीबुल्लाह जदरान ने लपका। अब तक तीन पारियों में मैकलियोड सिर्फ चार रन बना सके हैं।

हालीवुड अभिनेता सिल्वेस्टर स्टेलान के ‘रेम्बो’ लुक से प्रेरित होकर सिर पर बैंडाना पहनने वाले हामिद हसन ने 11वें ओवर में हामिश गार्डिनेर को पगबाधा आउट करके स्काटलैंड पर दबाव बढाया। दो गेंद बाद काइले कोएत्जर : 25 : भी दौलत जदरान की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। कप्तान प्रेस्टन मोम्मसेन और मैट मचान ने 61 गेंद में 53 रन की साझेदारी की। मोहम्मद नबी ने मचान को आउट करके इसे तोड़ा। अगले ओवर में मोम्मसेन (23) भी विकेटकीपर अफसर जजाइ को कैच देकर पवेलियन लौट गए। मजीद हक (31) और एलेस्डेयर इवांस (28) ने नौवें विकेट के लिये अर्धशतकीय साझेदारी करके टीम को 200 रन के पार पहुंचाया।

अफगान टीम ने लक्ष्य का पीछा करते हुए उम्दा आगाज किया। सलामी बल्लेबाज अहमदी ने पांचवां वनडे अर्धशतक 48 गेंदों में पूरा किया। अहमदी के आउट होने के बाद हालांकि अफगानिस्तान के विकेट जल्दी गिर गए। दो गेंद बाद मोहम्मद नबी (0) अपना विकेट गंवा बैठे।

शेनवारी को 20 के निजी योग पर स्लिप में मजीद हक ने जीवनदान दिया। उसने हालांकि नजीबुल्लाह जदरान और गुलबदन नाइब को लगातार दो गेंदों पर आउट करके अफगानिस्तान को संकट में डाल दिया। शेनवारी ने हालांकि सूझबूझ भरी पारी खेलते हुए सात चौकों और पांच छक्कों की मदद से 147 गेंद में 96 रन बनाये।

हक के एक ही ओवर में उन्होंने तीन छक्के जड़े लेकिन चौथा छक्का लगाने के प्रयास में आउट हो गए। उस समय भी अफगानिस्तान को 19 गेंद में 19 रन चाहिये थे। शापूर और हसन ने संयम नहीं खोते हुए टीम को जीत तक पहुंचाया। शापूर ने वार्डला के आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर चौका जड़कर विजयी रन बनाये।