संतलाल बिंद की हिरासत में मौत पुलिस और भू-माफियाओं के गठजोड़ का नतीजा: रिहाई मंच

संतलाल बिंद की हिरासत में मौत पुलिस और भू-माफियाओं के गठजोड़ का नतीजा: रिहाई मंच

इलाहाबाद । रिहाई मंच ने इलाहाबाद के झूंसी थाना के वार्ड संख्या आठ के निवासी वृृद्ध संतलाल बिंद की हिरासत में मौत को प्रदेश में बढ़ रहे पुलिसिया गुण्डाराज का एक और उदाहरण बताते हुए पूरे थाने के पुलिस कर्मियों को बर्खास्त करते हुए दोषियों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है। रिहाई मंच का 5 सदस्यीय जांच दल जल्द घटना स्थल का दौरा करेगा।

इलाहाबाद रिहाई मंच प्रभारी राघवेन्द्र प्रताप सिंह और अनिल यादव ने कहा कि पूरे प्रदेश में पुलिस और भू माफियाओं का गठजोड़ बना हुआ है। जमीन विवाद के मामले में वृद्ध संतलाल बिंद को जिस तरह पूछताछ के नाम पर पुलिस थाने उठा ले गई थी और देर शाम तक जब संतलाल घर नहीं पहुंचे तो उनके परिजनों ने खोजबीन शुरु की तब गांव में मंदिर के पास उनकी लाश मिली, इससे पुलिस का आपराधिक चरित्र उजागर हो गया है। जिस तरीक से संतलाल बिंद की मौत के बाद पुलिस एफआईआर दर्ज करने से भागती रही उससे साफ होता है कि पुलिस और भूमाफियाओं के गठजोड़ का नतीजा है संतलाल बिंद की हत्या। प्रदेश सरकार तत्काल दोषी पुलिस अधिकारियों समेत भूमाफियाओं को गिरफ्तार करे। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India