धोनी को संकट से निकलना आता है: वाडेकर

धोनी को संकट से निकलना आता है: वाडेकर

बरेली : पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान अजीत वाडेकर ने शनिवार को महेन्द्र सिंह धोनी को अच्छा कप्तान बताते हुए कहा कि धोनी को विषम परिस्थितियों में भी टीम को संकट से बाहर निकालना आता है।

आल इंडिया विकलांग क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वाडेकर ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘वह सबसे बेहतर कप्तान हैं। उनमें धर्य है। यही वजह है कि विषम परिस्थितियों में भी वह अपनी टीम को संकट से निकाल लेते हैं। इसके अलावा उनका टीम के साथ समन्वय भी काफी अच्छा है।’’ वाडेकर ने विश्वास जताया कि आगामी विश्व कप में भारतीय टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी। उनका मानना है कि विश्व कप के लिए चुनी गयी टीम संतुलित है। ‘‘भारतीय खिलाडियों का एकदिवसीय मैचों में अच्छा रिकार्ड रहा है।’’ उन्होंने संवाददाताओं की ओर से पूछे गये एक सवाल के जवाब में कहा कि क्रिकेट अब अधिक व्यावसायिक हो गया है हालांकि तकनीकी दृष्टि से यह नहीं बदला है। खिलाडी किसी भी ‘फार्मेट’ में खेल सकते हैं।

वाडेकर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान हैं और चयन समिति के अध्यक्ष रह चुके हैं। जब पूछा गया कि चयन समिति के अध्यक्ष पद पर रहते टीम चयन में क्या दिक्कतें पेश आती थीं तो वाडेकर ने कहा कि वह संतुलित टीम चुनने के पक्षधर रहते थे लेकिन उस समय तेज गेंदबाज नहीं मिल पाते थे। हमें स्पिनरों से ही काम चलाना पडता था। खास बात यह भी थी कि सभी स्पिनर बहुत अच्छा प्रदर्शन करते थे। इसके लिए बिशन सिंह बेदी जैसे ढेरों नाम लिये जा सकते हैं। शरीरिक रूप से अक्षम क्रिकेटरों के बारे में किये गये एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ‘स्पेशल’ खिलाडियों के साथ भेदभाव बंद होना चाहिए। इन्हें दया या कृपा नहीं चाहिए बल्कि उनकी स्वीकार्यता को बढाने की जरूरत है। खेल इन्हें स्वावलंबी बनाने में मदद करेंगे।