समाज को अपराध मुक्त बनाये रखना पुलिस का प्रमुख कर्तव्य: डीजीपी

समाज को अपराध मुक्त बनाये रखना पुलिस का प्रमुख कर्तव्य: डीजीपी

पुलिस महानिदेशक मुख्यालय में गणतऩ्त्र दिवस समारोह सम्पन्न

लखनऊ: पुलिस महानिदेशक मुख्यालय प्रांगण में 66वें गणतन्त्र दिवस के अवसर पर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अरूण कुमार गुप्ता ने ध्वजारोहण किया। 

इस अवसर पर सभी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को शुभकामनायें देते हुए कहा कि भारतीय गणतन्त्र दिवस का संकल्प ‘‘हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व-सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिये तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिये तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिये दृढ़ संकल्प लेते हैं।’’

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि उ0प्र0 पुलिस के 08 अधिकारियों को वीरता के लिये राष्ट्रपति का पुलिस पदक, 07 अधिकारियों को विशिष्ट सेवाओं के लिये राष्ट्रपति का पुलिस पदक एवं 73 कर्मियों को दीर्घ एवं सराहनीय सेवाओं के लिये राष्ट्रपति का पुलिस पदक प्राप्त हुआ है। यह सम्मान मात्र उन कर्मियों के लिये ही नहीं है, बल्कि समस्त पुलिस बल के लिये गर्व का विषय है । उक्त कर्मियों ने पूरे उ0प्र0 पुलिस बल को सम्मानित किया है । 

इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक उ0प्र0 द्वारा प्रदेश के 50 अराजपत्रित पुलिस कर्मियों को उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह तथा 200 अराजपत्रित पुलिस कर्मियों को सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह प्रदान किया गया। जिसमें मुख्यालय में कार्यरत दो कर्मियों निरीक्षक हेमन्त कुमार त्यागी व आरक्षी महेश बहादुर सिंह को उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह एवं  संजय अग्रवाल, एस0आई0(एम)/आशुलिपिक, कृष्ण कुमार सिंह, एस0आई0(एम)/आशुलिपिक, हरिहर सिंह, उ0नि0,  वीर प्रताप चैधरी प्रधान परिचालक, देव नारायण शुक्ल आरक्षी, जुबैर अहमद खाॅ आरक्षी चालक व रणजीत सिंह आरक्षी चालक को सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह से पुलिस महानिदेशक द्वारा अलंकृत किया गया।

पुलिस महानिदेशक ने पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को गणतन्त्र दिवस के अवसर पर सम्बोधित करते हुए कहा कि आज का दिन हमें राष्ट्र गौरव एवं आत्माभिमान की अनुभूति कराता है। समाज में अपराध नियंत्रण, सद्भाव एवं शंाति बनाये रखना पुलिस का प्रमुख कर्तव्य है। हमें अपने कर्तव्यों का निर्वहन निष्ठापूर्वक करना चाहिए। अभी हाल ही में पुलिस द्वारा आधुनिक तकनीकियों का प्रयोग करते हुए योजनाएं विकसित की गयी हैं जिससे जनमानस को उच्चकोटि की सेवायें प्राप्त हो सकंेगी । उन्होंने कहा कि हमें कानून एवं लोक व्यवस्था तथा अपराध नियंत्रण हेतु पारम्परिक रूप से प्रचलित पुलिस की प्रणालियों को नहीं भूलना चाहिए। पुलिस कर्मियों की समस्याओं एवं पदोन्नतियों से सम्बन्धित प्रक्रियाएं प्रचलित हैं जिससे पुलिस बल का मनोबल ऊॅचा होगा। कुछ ऐसे पुलिस कर्मी हैं जो पूरे पुलिस विभाग की छवि को अपने कार्य एवं आचरण से धूमिल करते हैं, उनका विभाग में रहना उचित नहीं है।

इस अवसर पर अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एच0सी0 अवस्थी, अपर पुलिस महानिदेशक, विशेष जाॅच हरिश्चन्द्र कश्यप, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था मुकुल गोयल, अपर पुलिस महानिदेशक, कार्मिक भवेश कुमार सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक मानवाधिकार प्रकोष्ठ विश्वजीत महापात्रा, अपर पुलिस महानिदेशक, रूल्स एवं मैनुवल चन्द्र प्रकाश, पुलिस महानिदेशक कार्मिक तनुजा श्रीवास्तवा, पुलिस महानिरीक्षक एवं पुलिस महानिदेशक के सहायक, बी0पी0जोगदण्ड, पुलिस महानिरीक्षक स्थापना, वितुल कुमार, पुलिस महानिरीक्षक कानून व्यवस्था, ए0सतीश गणेश, पुलिस महानिरीक्षक प्रशासन राम कुमार, पुलिस महानिरीक्षक लोक-शिकायत एम0ए0 जैन, पुलिस उपमहानिरीक्षक कार्मिक वी0के0 गर्ग, पुलिस अधीक्षक मानवाधिकार विजय भूषण, पुलिस अधीक्षक प्रशासन श्रीपर्णा गांगुली सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण मौजूद थे। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India