किसानों के साथ छल कर रही है मोदी सरकार: मिस्त्री

किसानों के साथ छल कर रही है मोदी सरकार: मिस्त्री

लखनऊ: अखिल भारतीय कांग्रेस के महासचिव तथा उत्तर प्रदेश के प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री ने जनपद गौतमबुद्धनगर के मिर्जापुर में आज किसान महापंचायत में कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों से जबरदस्ती औद्योगिक विकास के नाम पर जमीन कौडियों के भाव छीनकर उद्योगपतियों को कमाई का जरिया बनाने के लिये सौंप दी। यूपीए सरकार द्वारा बनाये गये भूमि अधिग्रहण कानून में वर्तमान केन्द्र की भाजपा सरकार अध्यादेश के जरिये संशोधन करके किसानों के साथ छल करने का प्रयास कर रही है। श्री मिस्त्री ने कहा कि ’’जमीन हमें कुदरत ने दी है, किसी में ताकत नहीं कि वो इसे हमसे छीन ले’’। इस मौके पर उत्तर प्रदेश कांगेस के अध्यक्ष डा0 निर्मल खत्री भी मुख्य रूप से मौजूद रहे। 

आज की पंचायत के समन्वयक उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि यह जागृति महापंचायत राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन व राष्ट्रीय किसान यूनियन सहित अन्य दर्जनों भर किसान संगठनों के द्वारा आयोजित की गयी थी। इस अवसर पर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव मधुसूदन मिस्त्री ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि ’’मैं गुजरात से आता हूॅ और मैने बहुत नजदीक से देखा है कि किस प्रकार मोदी जी ने सुनियोजित विकास के नाम पर गुजरात में लाखों किसानों की जमीनों को कौडि़यों के भाव में चंद पूंजीपतियों को सांैप दी। अब अपनी इस हरकत को ये इस अध्यादेश के माध्यम से पूरे देश में करने की साजिश रच रहे है। उन्होने किसानों से वादा किया कि आप अपने हक की लडाई निडर होकर लडते रहें और मैं आपके आंदोलन को धार देने के लिए आपके बीच में आता रहूॅगा।’’

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा निर्मल खत्री ने अपने संबोधन में कहा कि ’’आज देश में 20 लोगों की सरकार 120 करोड़ लोगों पर शासन कर रही है और ये 20 लोग पूंजीवादी सोच रखते हैं और ईस्ट इंण्डिया कंपनी की तरह देश में शासन चलाना चाहते हैं, उनके मंसूबों को नेस्तनाबूद करना है।’’ कांग्रेस पार्टी जब तक भूमि अधिग्रहण कानून में अध्यादेश लाकर जो संशोधन केन्द्र सरकार करना चाहती है जब तक उसे वापस नहीं लिया जायेगा तब तक कंाग्रेस पार्टी किसानों की समस्याओं को लेकर संघर्ष करती रहेगी और बहुत जल्द ही इन संघर्षों की रूपरेखा तैयार की जायेगी।

आज की महापंचायत के समन्वयक उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता धीरेन्द्र सिंह ने सबसे पहले वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं के सामने किसानों की पीड़ा को रखते हुए उनसे अपील की कि ’’संसद में भी पूर्व की भांति किसानों की आवाज को बुलंद कर उनकी समस्याओं का निराकरण कराते रहें एवं बहुत जल्द ही किसानों का एक विशाल जनसैलाब भटटा पारसौल से संसद तक कूच करेगा, जिससे मोदी सरकार के द्वारा लाया गया काला अध्यादेश वापिस हो सके।’’

किसान मजदूर जागृति महांपचायत का लोकदल के पूर्व अध्यक्ष प्रवीन चौधरी राष्ट्रीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष चौधरी इकपाल सिंह सिवाच, किसान मजदूर संगठन के अध्यक्ष चौधरी अमरपाल सिंह ने भी संबोधित किया। भटटा पारसौल के किसानों राष्ट्रीय महासचिव मधुसूदन मिस्त्री व प्रदेश अध्यक्ष डा0 निर्मल खत्री का पगड़ी बांधकर स्वागत किया।

Uttar Pradesh, India