ईरान पर नए प्रतिबन्ध नहीं चाहते ओबामा

ईरान पर नए प्रतिबन्ध नहीं चाहते ओबामा

वीटो करने की दी चेतावनी, परमाणु वार्ता रुकने की आशंका

वाशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ईरान के खिलाफ ताजा प्रतिबंधों की कड़ी आलोचना करते हुए इस संबंध में कांग्रेस द्वारा लाए जाने वाले किसी भी कानून को वीटो करने की चेतावनी दी है। इसके अनुसार, इस तरह का कोई भी कदम ईरान के साथ परमाणु वार्ताओं को धराशायी कर सकता है।

ओबामा ने डेमोक्रेट्स सहित कांग्रेस के सदस्यों से ईरान से वार्ता जारी रहने के दौरान नए प्रतिबंधों को लागू नहीं करने को कहा। ओबामा ने चेताते हुए कहा, ‘यदि मेरे सामने इस तरह का कोई भी अधिनियम लाया जाता है तो मैं उस पर वीटो का प्रयोग करूंगा।’

व्हाइट हाउस में ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान ओबामा ने संवाददाताओं से कहा, ‘वास्तव में इस पर कोई भी राजनयिक करार करने के 50-50 प्रतिशत से भी कम संभावनाएं हैं। ईरान एक ऐसा देश रहा है जो पश्चिम के लिए, हमारे लिए बेहद संदिग्ध रहा है। अतीत में उन्होंने गुपचुप तरीके इस तरह के कार्यक्रमों को अंजाम दिया है। इस तरह के मुद्दों पर हमारा उनसे भारी मतभेद रहा है।’

एक प्रश्न के जवाब में ओबामा ने कहा कि ईरान को वार्ता के लिए प्रेरित करने वाले अंतरिम करार के तहत वे अब नए प्रतिबंधों को लागू नहीं करने वाले हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘अब आप सभी इस बहस को सुन सकेंगे और यह तकनीकी रूप से कोई प्रतिबंध भी नहीं हैं जबकि संभावित अतिरिक्त प्रतिबंधों के स्थान पर इन्हें लाया गया है। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि इसपर ईरान की प्रतिक्रिया वैसी नही होगी जैसा सोचा जा रहा है।’

ओबामा ने कहा, ‘इसलिए सम्पूर्ण वार्ताओं के धराशायी होने की संभावना अधिक है।’ उन्होंने कहा कि यदि ईरानी इस पर असहमति जताते हैं और कोई करार नहीं होता है तो कुल मिलाकर उन पर अतिरिक्त प्रतिबंध क्या लगाया जाए इस संबंध में हम मिलकर काम करेंगे।