पुलिस करवाई में मारे गए शार्ली एब्दो के हमलावर

पुलिस करवाई में मारे गए शार्ली एब्दो के हमलावर

सुपरमार्केट में लोगों को बंधक बनाने वाला भी  मारा गया

पेरिस: फ्रांस के विशेष बलों ने फ्रांसीसी व्यंग्य पत्रिका शार्ली ऐब्दो के ऑफिस पर हमले में 12 लोगों की हत्या करने के संदिग्ध दोनों भाइयों को मार गिराया है। इसके अलावा, पूर्वी पेरिस स्थित कोशर सुपरमार्केट में पांच लोगों को बंधक बनाने वाले एक अन्य शख्स को भी मार गिराया गया है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, इन आतंकियों के अलावा सुपरमार्केट में बंधक बनाए गए कम से कम चार लोग मारे गए हैं।

पुलिस ने आज दो जगहों पर एक साथ कार्रवाई शुरू की। पहले पुलिस ने पेरिस से चालीस किलोमीटर दूर एक औद्योगिक इलाके दर्मातिन एन गेल में दो आतंकी भाइयों को घेर लिया। ये दोनों एक कार छीन कर भागे थे और पुलिस ने इनका पीछा किया था। हेलीकॉप्टरों से भी इन पर नज़र रखी जा रही थी।

इस अभियान को फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद निजी तौर पर देख रहे थे। जब यह कार्रवाई चल रही थी तभी पूर्वी पेरिस के पोर्ट दी वानसेन में हाइपर कैचर नाम के एक सुपर बाज़ार पर भी हमले की ख़बर आई। पता चला कि यहां एक शख्स ने कई लोगों को बंधक बना रखा है। पुलिस ने इलाके को घेर लिया।

आखिरकार कुछ देर पहले दोनों जगहों पर बिल्कुल एक साथ कार्रवाई हुई। सबको मार गिराया गया। पेरिस ने पहली बार जैसे ऐसा हमला झेला था। वहां आज स्कूल बंद कर दिए गए। बच्चों को पुलिसवालों की मदद से घर पहुंचाया गया। लेकिन आखिरकार पुलिस कार्रवाई में सारे संदिग्ध आतंकियों के मार गिराया गया।

इस दौरान पेरिस में फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद उस अंदरूनी उच्च स्तरीय बैठक में पहुंचे, जहां ताजा स्थिति के बारे में बताया जाना था। प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि फ्रांस की किसी धर्म से नहीं बल्कि आतंकवाद से लड़ाई है। उन्होंने कहा, 'आतंकवादी खतरे से निबटने के लिए नि:संदेह कदम उठाना जरूरी होगा।'

इस हमले के बाद पैदा हुई आशंकाओं के बीच, ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी एमआई-5 के प्रमुख ने चेताया कि इस्लामी आतंकवादी 'पश्चिम में कई अन्य बड़े हमले करने की' साजिश रच रहे हैं और हो सकता है कि खुफिया एजेंसियों के लिए इन हमलों को रोकना मुश्किल हो।

राजनीतिक रूप से बंटा और संकट में फंसा फ्रांस आपदा की इस स्थिति में एकजुट हो गया है और देश के मुस्लिम समुदाय के प्रमुख ने इमामों से शुक्रवार की नमाज के दौरान आतंकवाद की निंदा करने का अनुरोध किया। यूरोप में सबसे अधिक मुसलमान फ्रांस में ही है