प्रदेश  सरकार नें जनता से किये वादों को पूरा किया:  यादव

प्रदेश सरकार नें जनता से किये वादों को पूरा किया: यादव

लखनऊ:  सैफई पंण्डाल में पंचायत एवं सहकारिता प्रतिनिधियों की एक दिवसीय उन्मूखीकरण गोष्ठी एवं आंचलिक सम्मेलन आज यहाॅ सम्पन्न हुआ। सम्मेलन में कानपुर, आगरा, अलीगढ मण्डलों के सभी जनपदों एवं जनपद सम्भल और बदायॅू जिला के ग्राम प्रधानों, पंचायत सदस्यों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों, ब्लाक प्रमुखों, जिला पंचायतों के अध्यक्ष, जिला सहकारी बैंकों एवं समितियों के अध्यक्षों सहित लगभग 21 हजार से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।

सम्मेलन में मुख्य अतिथि एवं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मा. श्री मुलायम सिंह यादव जी ने कहा कि उनकी सरकार में सदैव पंचायतों के चुने प्रतिनिधियों का सम्मान किया है और गांव गरीब व किसानों के हित के लिये कार्य किये है। उन्होने विस्तार से बताया कि प्रदेश की वर्तमान सरकार ने जन हित में जितने कार्य किये है उतना किसी भी सरकार ने कार्य नही किये है। हमने जो वादे किये, घोषणा पत्र के सभी कार्यों को पूरा किया हैं।

श्री मुलायम सिंह यादव ने गांवों के विकास में जन प्रतिनिधियों की भूमिका पर चर्चा करते हुए प्रतिनिधि नागरिकों के सहयोग से गांवों का बेहतर उत्थान, विकास, शिक्षा, सफाई आदि कार्य कराये। उन्हांेने जन सहयोग से सैफई ग्राम में कराये गये कार्यों के उदाहरण प्रस्तुत किये। उन्होेंने कहा कि सफाई तभी सम्भव है जब घर-घर मे शौचालय बन जाये और लोगों को शौच के लिये खुले में न जाना पड़े।

सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए लोक निर्माण मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि पंचायती राज और सहकारिता एक दूसरे के पूरक है। मा. मुलायम सिंह जी ने और वर्तमान सरकार ने सदैव ही इन जन प्रतिनिधियों का सम्मान किया है। हिन्दुस्तान गांवों में बसता है और अधिकांश लोग कृषि से जुडे़ है। उन्होने ग्रामों के विकास पर बल देते हुए सरकार द्वारा चलाये जा रहे योजनाओं की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार सत्ता में आई थी तब उत्तर प्रदेश में प्रति व्यक्ति औसत आय 22 हजार रूपये थी, जो तीन सालों में बढ़कर प्रति व्यक्ति आय 35 हजार रूपये हो गई है। उन्होंने कहा कि सरकार हर वर्ग के विकास के लिये कार्य कर रही है। प्रदेश में बीज और उर्वरकों की कोई कमी नही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की नीतियों के अन्र्तगत 25 जिला सहकारी बैंकों को पुनः चालू कराया गया है, इसके लिये लगभग 600 करोड़ रूपये का प्राविधान किया गया। किसानों का  लगभग 1650 करोड़ रूपये माफ कर उत्तर प्रदेश सहकारी ग्राम विकास बैंकों को चालू किया गया है। शीघ्र ही सचिवों का कैडर बहाल कराकर लगभग 5 हजार सुपरवाइजर तथा 25 सौ सचिवों की नियुक्ति कराई जायेगी। सरकार हर खेत को पानी, हर हाथ को काम दिलाने के लिये कार्य कर रही है। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विकास योजनाओं पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रो. रामगोपाल यादव ने कहा कि प्रदेश में श्री मुलायम सिंह यादव के प्रथम बार सहकारिता मंत्री बनने पर सहकारिता आन्दोलन को गति मिली है। समाजवादी सरकार गांव और गरीबों के हितों के लिये कार्य कर रही है। पंचायत और सहकारी संस्थाओं से जुडे प्रतिनिधि विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निर्वाह कर सकते हैं। उन्होंने सहकारिता आन्दोलन की चर्चा करते हुए कहा कि समाजवादी सरकार में यह आन्दोलन मजबूत हुआ है। उन्हांेने कहा कि जब पंचायतीराज व्यवस्था लागू की गई थी, तब इटावा जनपद के महेवा ब्लाक से शुरूआत हुई थी। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा पंचायत प्रतिनिधियों के मानदेय दिलाने की शुरूआत की और उसे बढ़ाया है।

पंचायती राज मंत्री श्री कैलाश यादव ने कहा कि सरकार ने इन जनप्रतिनिधियों का भी मानदेय बढ़ाया है। पंचायतीराज व्यवस्था लोकतंत्र का आधार है। उन्होने पंचायत प्रतिनिधियों की लोकतंत्र व्यवस्था और विकास योजनाओं में भूमिका पर विस्तार से चर्चा की। दुग्ध विकास मंत्री श्री राममूर्ति वर्मा ने त्रिस्तरीय पंचायत व्यवस्था और गांवों के विकास में सरकार की योजनाओं की चर्चा की। मंत्री श्री राजा अरिदमन सिंह ने कहा कि पंचायत और सहकारी समितियाॅ सीधे किसानों से जुडी है। निदेशक इफ्को श्री चन्द्रपाल यादव ने सहकारी आन्दोलन की चर्चा करते हुए सहकारी संस्थाओं को मजबूत बनाने पर बल दिया। पी. सी. एफ. के अध्यक्ष श्री आदित्य यादव ने जिला कार्यालयों एवं किसान सेवा केन्द्रों को कम्प्यूटरीकृत कर क्रियाशील बनाने की जानकारी देते हुए कहा कि किसानो को सही मूल्य और सही समय पर उर्वरक उपलब्ध कराये जायेगें। राज्य मंत्री माध्यमिक शिक्षा श्री विजय बहादुर पाल ने ग्राम विकास कार्यक्रमों में सरकार की भूमिका की चर्चा की। राज्य मंत्री श्री चितरंजन स्वरूप ने सहकारिता आन्दोलन को मजबूत बनाने में सरकार की पहल पर चर्चा की। राज्य मंत्री पंचायत श्री कमाल अख्तर ने सरकार के विकास कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि मंत्री श्री शिववाल सिंह यादव द्वारा क्रान्तिकारी कदम उठाये गये है।

इस अवसर पर पंचायती राज्य के संयुक्त निदेशक श्री सुगन चन्दौला, प्रबन्ध निदेशक उत्तर प्रदेश सहकारी बैंक लिमिटिड श्री हीरालाल यादव, प्रबन्ध निदेशक पी. सी. एफ. श्री आर. पी. गोस्वामी, प्रधान संघ के अध्यक्ष, अध्यक्ष दुग्ध संघ, विभिन्न जिलों के जिला पंचायत अध्यक्षों एवं जिला सहकारी बैंकों के अध्यक्षों, अपर महाधिवक्ता श्री राजबहदुर सिंह आदि ने सम्बोधित किया।

सैफई महोत्सव समिति के अध्यक्ष/सांसद श्री धर्मेन्द्र यादव ने प्रतिनिधियों का स्वागत किया और संासद तेजप्रताप यादव ने धन्यवाद प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि का शौल और स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया। श्री रणवीर सिंह के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। उत्तर प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव पंचायतीराज श्री चंचल कुमार तिवारी, प्रमुख सचिव सहकारिता श्री शैलेश कृष्ण, निदेशक पंचायतीराज श्री उदयवीर सिंह यादव, मण्डलायुक्त श्री इफ्तेखारूद्दीन, जिलाधिकारी श्री नितिन बंसल आदि अधिकारियों ने अतिथियों का स्वागत किया। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India