किताब मेला: आकर्षण का केन्द्र बना सलाम सेन्टर बंग्लौर

किताब मेला: आकर्षण का केन्द्र बना सलाम सेन्टर बंग्लौर

सभी धर्मों के लोगों के लिए हिन्दी, अंग्रेजी में मुफ्त कुरआन उपलब्ध

लखनऊ: मोती महल लान में चल रहे पुस्तक मेले में सलाम सेन्टर बंग्लौर लोगों की आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। व्यवसायी, लेखक और सामाजिक कार्यकत्र्ता सैयद हामिद मोहसिन द्वारा स्थापित इस सेण्टर का उद्देश्य, ग़लतफ़हमियों को मिटाकर और कुरआन के सन्देश और पैग़म्बर मुहम्मद के जीवन आदर्श को फैलाकर शान्ति, सद्भाव और विश्व बन्धुत्व के मूल्यों का प्रसार करना है ।  

सेन्टर दोनों समुदायों के बीच दूरियों को मिटाने के लिए सन् 2008 से अपनी सेवाएँ प्रदान करता रहा है और इसके लिए इसे साधारण जनता, राजनयिकों, न्यायाधीशों, वकीलों, पुलिस अधिकारियों, कॉरपोरेट जगत के कार्यकत्र्ताओं, छात्रों, लेखकों, पत्रकारों, बुद्धिजीवियों, धर्मगुरुओं और राजनीतिज्ञों द्वारा प्रशंसा और बधाई प्राप्त होती रही है। 

आपसी विश्वास और सद्भाव के विकास के लिए सलाम सेन्टर हिन्दी और अंग्रेजी में पवित्र कुरआन के अतिरिक्त हजऱत मुहम्मद सबके पैग़म्बर, इस्लाम आपके लिए और ग़लतफ़हमियाँ 

नामक किताबें मुफ्त वितरित कर रहा है। सलाम सेन्टर यह किताबें ग़ैर मुस्लिम भाईयों और बहनों को सन् 2008 से भेंट करता आ रहा है। सलाम सेण्टर सफलतापूर्वक कर्नाटक उच्च न्यायालय, कर्नाटक विधान सभा और विधान परिषद, राज्य पुलिस मुख्यालय, राज्य इन्टेलीजेन्स मुख्यालय, सी.आई.डी. मुख्यालय और कर्नाटक के अनेक पुलिस थानों, आई.आई.एम. बंग्लौर और बहुत सी शिक्षा संस्थाओं और धार्मिक केन्द्रों पर कार्यक्रम आयोजित कर चुका है। सलाम सेन्टर, पवित्र कुरआन और अन्य इस्लामी साहित्य की 2.5 लाख से अधिक प्रतियाँ ग़ैर मुस्लिम भाईयों और बहनों को भेंट कर चुका है। 

इस कठोर संघर्ष का उद्देश्य ग़लतफ़हमियों के अंधेरों को मिटाना है जो साम्प्रदायिकता, घृणा और अविश्वास का कारण बनती हैं। हमें इन्हें मिटाने के लिए एक-दूसरे का सहयोग करना चाहिए और अपने सपनों के भारत का निर्माण करना चाहिए। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India