बदायूं की घटना पर मुख्यमंत्री नाराज

बदायूं की घटना पर मुख्यमंत्री नाराज

पीड़िता  को दी पांच लाख रु0 की आर्थिक सहायता

कोताही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के दिये निर्देश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बदायूं की घटना में पीडि़ता को पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। उन्होंने इस घटना को गम्भीरता से लेते हुए जिम्मेदार एवं कार्यवाही में कोताही बरतने वाले पुलिस कर्मियों व अधिकारियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। 

मुख्यमंत्री ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए प्रकरण में संलिप्त दोषियों की गिरफ्तारी के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि दोषियों को शीघ्र से शीघ्र सजा दिलाई जाए। उल्लेखनीय है कि इस सिलसिले में दो पुलिस कर्मियों को पूर्व में ही निलम्बित किया जा चुका है।

श्री यादव ने पीडि़ता के परिवार को समुचित सुरक्षा मुहैया कराने के साथ-साथ ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़े और प्रभावी कदम उठाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि इस प्रकार की घटनाओं को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

उल्लेखनीय है कि अभी हाल ही में 'रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोषÓ की स्थापना की गई है, जिसके अन्तर्गत चिन्ह्ति अपराधों की शिकार हुई महिलाओं को आर्थिक एवं चिकित्सीय राहत उपलब्ध कराए जाने की व्यवस्था है। इस कोष के तहत सभी वर्गों की निराश्रित श्रेणी की महिलाओं/बालिकाओं को आर्थिक, शैक्षणिक एवं चिकित्सीय सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित पेंशन योजनाओं की पात्रता वाली महिलाओं की आश्रित अविवाहित बालिकाओं को भी इस कोष से सहायता दी जा सकेगी। साथ ही, पीडि़त महिलाओं के नाबालिक बच्चों की देखभाल एवं शिक्षा के लिए कोष का उपयोग आवश्यकतानुसार किया जा सकेगा।

Lucknow, Uttar Pradesh, India