प्रदेश के माहौल को बिगाडऩे का प्रयास कर रही भाजपा

प्रदेश के माहौल को बिगाडऩे का प्रयास कर रही भाजपा

बीजेपी के मंसूबों को कामयाब नहीं होने देगा काग्रेस अल्पसंख्यक विभाग: सिराज मेंहदी 

लखनऊ: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन खुर्शीद सैयद की मौजूदगी में पूर्व एम.एल.सी. हाजी सिराज मेंहदी ने अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन  पद का पदभार ग्रहण किया। कार्यक्रम में राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी, पी.एल. पुनिया, डॉ0 रीता बहुगुणा जोशी, डॉ0 अम्मार रिजवी, जफरअली नकवी, जाने-माने शायर मुनव्वर राना मौजूद रहे। जलसे में लखनऊ शहर के मोअज्जि उलमा किराम मालौना फरमान नदवी, मौलाना अब्दुल लतीफ निजामी (फिरंगीमहली), मौलाना अरब खाँ बरेलवी मसनद, मौलाना इफ्तेखारी साहब ने भी शिरकत किया। 

इस अवसर खुर्शीद अहमद सैयद ने सिराज मेंहदी को बधाई देते हुए कहा कि अल्पसंख्यक विभाग का जब नाम आता है तो लोगों के मन में केवल मुस्लिम समुदाय की याद आती है, जबकि अल्पसंख्यक विभागा में मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, पारसी और बौद्ध भी आते हैं। मेरी सिराज साहब से यह इल्तिजा है कि वह इस विभाग के साथ इन छ: समुदाय के लोगों को उचित प्रतिनिधित्व दें। मुझे विश्वास है कि सिराज साहब के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश का अल्पसंख्यक विभाग कांग्रेस को पुन: सत्ता में लाने के लिए गली, मोहल्ले, गांवों में जाकर लोगों को जोड़ेगा। उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ0 निर्मल खत्री ने जलसे को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं उमीद करता हूं कि जिस तरह कांग्रेस ने अल्पसंख्यक समुदाय को अपने साथ जोड़े रखने का प्रयास किया, उस प्रयास को और आगे बढ़ायेंगे और साथ ही साथ आज जिस तरह भारतीय जनता पार्टी की हुकूमत में अल्पसंख्यकों के साथ भेदभावपूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है,ै, उससे लोगों को सावधान करेंगे। जलसे को खिताब करते हुए सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि कल कंागे्रस का था, आज हो न हो कल फिर कांग्रेस का होगा। 

नवनियुक्त चेयरमैन हाजी सिराज मेंहदी ने जलसे में आये हुए कांग्रेस नेताओं, मोअज्जि मौलवी-मौलानाओं और ऐसे खराब मौसम में भी शिकरत करने वाले तामाम लोगों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी जिस तरह से उत्तर  प्रदेश के माहौल को वोटों के पोलराइजेशन को मद्देनजर रखते हुए बिर्गाडऩे का प्रयास कर रही है, प्रदेश कांग्रेस का अल्पसंख्यक विभाग पूरे प्रदश के जिलो मे दौरा करके भारतीय जनता पार्टी को अपने मंसूबो में कामयाब नहीं होने देगाा और इस प्रदेश के गंगा-यमुनी तहजीब को बनाये रखने के लिए काम करेगा। जलसे को अमीर हैदर, डॉ0 रीता बहुगुणा जोशी, डॉ0 अम्मार रिजवी, जफर अली नकवी ने भी सम्बोधित किया।

इस मौके पर जाने-माने शायरों और गजलकारों में रईस अंसारी साहब, श्रीमती नसीम निख़त, नायाब हल्लौरी आदि खासतौर से मौजूद थे। खासतौर से साहित्य एकेडमी अवार्ड विजेता प्रसिद्ध शायद मुनव्वर राना ने अपनी शायरी के जरिए जलसे के माहौल को जोशीला बनाते हुए सिराज मेंहदी को मुबारकबाद दिया और यह उम्मीद जताई कि उनकी रहनुमाई में उत्तर प्रदेष में अल्पसंख्यक विभाग कामयाबियों की मजिलें तय करेगा। 

जलसे में अल्पसंख्यक विभाग के पूर्व चेयरमैन मारूफ खान, अनीस अंसारी- रिटायर्ड आई.ए.एस., मौलाना अब्दुल लतीफ निज़ामी, मौलाना फरमान नदवी, मौलाना इफ्तेखारी, अतहर नवी, जीशान हैदर, अरशी रज़ा, कैप्टन सर्वजीत सिंह मक्कड़, मेराज हैदर, हनुमान त्रिपाठी, कमाल याकूब, शमशाद आलम, डा0 जियारामा वर्मा, मेंहदी हसन, हाजी मोहम्म्द सगीर- मुरादाबाद, नवाब कम्बर कैसर, मोहम्मद अयूब सिद्दीकी, शकील फारूकी, इरशाद अली, अरशद अली, मोहम्मद हारून, राजेन्द्र प्रताप सिंह - फैजाबाद, नायाब हल्लौरी, डा0 अरशद ज़ाफरी, नसीम निख़त, सरदार हरबीर सिंह बाबी, ेिबृजेश द्विवेदी, राजेन्द्र सोनकर 'पप्पूÓ, अमित त्यागी, नीरज जैन  के अतिरिक्त सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India