लोग मुझे चन्नी समझने लगे हैं - प्रियंका खेरा

लोग मुझे चन्नी समझने लगे हैं - प्रियंका खेरा

प्रियंका खेरा ने अपने सुपर हिट शो, शास्त्री सिस्टर्स के साथ मनोरंजन उद्योग में अपनी भव्य शुरुआत की थी। उनके आकर्षक व्यक्तित्व और शक्तिशाली भूमिकाओं ने बहुत कम समय में उन्हें एक चहेता नाम बना दिया है। प्रियंका आजकल प्रियंका जिंदगी के दूसरे मूल शो आधे अधूरे में नजर आ रही हैं। आधे अधूरे में वो चन्नी की भूमिका में एक 22 साल की जवान, नम्र और डरपोक लड़की का किरदार कर रही है। पेश है प्रियंका खेरा से हुई बातचीत के मुख्य अंश। 

प्र. अपने नए शो आधे अधूरे की संकल्पना के बारे बताइये?

ऊ. इस शो की संकल्पना बिल्कुल अलग और अनूठी है। यह शो उन विकल्पों के बारे में है जो हमें तब चुनने पड़ते हैं जब परिस्थितियाँ कुछ अलग बन जाती हैं। यह संकल्पना भारतीय टेलीविजन की किसी भी अन्य संकल्पना से अलग है। 

प्र. आपका क्या किरदार है शो में?

ऊ. चन्नी नामक मेरा एक बड़ा ही दिलचस्प किरदार है। वह एक गंभीर और मासूम सी मध्यमवर्गीय लड़की है। मेरे किरदार का ग्राफ इतनी अच्छी तरह बढ़ रहा है कि मुझे इस भूमिका को निभाने में बहुत मजा आ रहा है। मुझे मेरा किरदार बहुत पसंद है।

प्र.  आपको अपना किरदार चुनौतीपूर्ण लगता है?

ऊ. बिल्कुल, एक अभिनेता के लिए उसके द्वारा निभाया जानेवाला किरदार हमेशा ही चुनौतीपूर्ण होता है और आप अपने किरदार को हल्के में नहीं ले सकते। एक ऐसी मासूम लड़की का किरदार निभाना, जो बुरा-भला कहे जाने के बावजूद हर किसी की बात सुनती है, कोई आसान काम नहीं है, इसे हर कोई नहीं कर सकता। ऐसे किरदार को निभाने के लिए बहुत सब्र और समझदारी की जरूरत होती है।

प्र. इस किरदार को जीवंत करने के लिए कितनी मेहनत करती हैं?

ऊ. मुझे तैयारी करने का ज्यादा वक्त नहीं मिला था लेकिन जैसे ही मुझे पता चला कि मुझे ऐसा एक खूबसूरत किरदार अदा करना है, तो मैंने चन्नी बनने के लिए खुद में तब्दीलियाँ लानी शुरू कर दीं। मेरे दोस्त और परिवार के लोग मानते हैं कि मैं चन्नी बन गयी हूँ। मेरा बर्ताव काफी हद तक चन्नी जैसा है और मुझे यह कहते हुए खुशी होती है कि प्रियंका अब चन्नी बन गयी है।

प्र. व्यस्त शेड्यूल होते हुए भी आपकी तन्दुरुस्ती का राज क्या है?

ऊ. मुझे इसपर ध्यान देने का ज्यादा समय नहीं मिलता लेकिन मैं सेहतमंद रहने की भरपूर कोशिश करती हूँ। ज्यादा पानी पीना, अच्छा और सेहतमंद खाना खाना, जॉगिंग करना, पैदल चलना (सेट पर जब शॉट तैयार न हो तब) और साथ-साथ सेट पर क्रिकेट खेलना मझे चुस्त-दुरुस्त और सेहतमंद रखता है।

प्र. आपका सौंदर्य मंत्र क्या है?

ऊ. सुन्दर रहने के लिए खुश रहना ही सबसे अच्छा मंत्र है। अच्छा खाना खाना, फिट और तन्दुरुस्त रहना, अपना ख्याल रखना आपको खुश रहने में मदद करते हैं। हां मैं सिर्फ त्योहारों के मौकों पर ही  हिंदुस्तानी कपडे पहनना पसंद करती हूँ, वरना मुझे पश्चिमी परिधान पहनना पसंद है। 

प्र. भविष्य के लिए क्या योजनायें हैं?

ऊ. मैं अलग और अच्छे प्रोजेक्ट्स करना चाहती हूँ। मैं और अधिक चुनौतीपूर्ण किरदार निभाना और दिन पर दिन खुद को बेहतर बनाना चाहती हूँ, और हाँ, मेरा सबसे बड़ा सपना है, मशहूर होना।