मनीष पाण्डेय ने बचाई टीम इंडिया की लाज

मनीष पाण्डेय ने बचाई टीम इंडिया की लाज

सिडनी ODI में जड़ा शतक, भारत अंतिम मैच जीत पूरी तरह सफाये से बची 

सिडनी। 5वें और आखिरी वनडे में मनीष पांडे भारतीय क्रिकेट टीम के नए सितारे के रूप में उभरे हैं। ऑस्ट्रेलिया के 331 रन के टारगेट का पीछा करते हुए मनीष पांडे ने शतक जड़कर टीम को जीत दिलाई। मनीष ने 81 गेंदों पर 8 चौके और 1 छक्के की मदद से 104 रन बनाए।

मेजबान टीम के बड़े टारगेट को हासिल करने के इरादे से उतरी टीम इंडिया ने धमाकेदार शुरुआत के बाद अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। रोहित शर्मा नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए और 99 पर आउट हो गए। शिखर धवन जहां शानदार अर्धशतक जमाकर 78 रन पर आउट हुए वहीं, विराट कोहली सिर्फ 8 रन बनाकर ही चलते बने। तीनों का विकेट जॉन हैस्टिंग्स ने ही लिया।

शिखर धवन ने टीम को धमाकेदार शुरुआत दिलाई। धवन ने 7 चौके और 3 ताबड़तोड़ छक्कों की मदद से 78 रन बनाए। हैस्टिंग्स की गेंद पर शॉन मार्श ने शानदार कैच लेकर धवन को विदा किया। सिडनी वनडे में भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के लिए सिडनी वनडे बुरा सपना साबित हुआ और वह 99 पर आउट हो गए।

रोहित शर्मा सीरीज में  एक और शतक बनाने से चूक गए और 99 रन पर आउट हो गए। रोहित और पांडे ने पारी को संभालते हुए टीम का स्कोर 34 ओवर में दो विकेट पर 225 रन तक पहुंचा दिया। 35वें ओवर में टीम इंडिया को झटका लगा, जब रोहित आउट हो गए। उन्हें  और सीरीज में एक और शतक बनाने से चूक गए। उन्हें जॉन हेस्टिंग्स की गेंद पर मैथ्यू वेड ने कैच किया। 34वें ओवर में रोहित ने वनडे में अपने 5000 रन भी पूरे कर लिए। 40वें ओवर की समाप्ति पर टीम इंडिया का स्कोर तीन विकेट पर 254 रन रहा।

रोहित शर्मा और मनीष पांडे ने पारी को संभालते हुए टीम का स्कोर 30 वें ओवर तक दो विकेट पर 192 रन तक पहुंचा दिया। 30वें ओवर की समाप्ति पर रोहित 75 और पांडे 29 रन बनाकर खेल रहे थे।इससे पहले धवन के बाद बैटिंग करने आए विराट कोहली ज्यादा देर नहीं टिक सके और उन्हें 21वें ओवर में जॉन हेस्टिंग्स की गेंद पर विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने लपक लिया। कोहली एक बार फिर अपनी जगजाहिर हो चुकी कमजोरी के सामने लाचार नजर आए और ऑफ स्टंप से बाहर की गेंद को कट करने की कोशिश में विकेट खो दिया।

रोहित शर्मा जहां टिककर खेल रहे थे, वहीं धवन ने तेजी से रन बनाए। दोनों ने मिलकर पहले विकेट के लिए 18.2 ओवर में 123 रन जोड़े। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर शिखर धवन अलग ही मूड में नजर आए। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की जमकर पिटाई की। आउट होने से पहले उन्होंने 56 गेंदों पर 78 रन बनाए, जिसमें 7 चौके और 3 छक्के शामिल रहे। धवन ने परेशानी पैदा करने वाली शॉर्ट गेंदों पर भी खूबसूरत शॉट लगाए। उन्हें जॉन हेस्टिंग्स की गेंद पर शॉन मार्श ने ग्रेट कैच लेकर पैवेलियन लौटाया।

सीरीज में दूसरी बार 300 से अधिक के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने धीमी शुरुआत की और पहले 5 ओवरों में महज 20 रन बनाए। इसके बाद 7वें ओवर से शिखर धवन और रोहित शर्मा ने आक्रामक रुख अपना लिया और एक ओवर में 12 रन ठोक दिए। टीम इंडिया ने पहले 10 ओवर में बिना किसी नुकसान के 6.8 के रनरेट से 68 रन बनाए।

इससे पहले कप्तान एमएस धोनी ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवर में सात विकेट पर 330 रन बनाए। मिचेल मार्श (102) नाबाद रहे। टीम इंडिया की ओर से करियर का पहला मैच खेल रहे जसप्रीत बुमराह ने 10 ओवर में 40 रन देकर दो विकेट झटके।

बुमराह आज न केवल अपने बॉलिंग एक्शन बल्कि शानदार प्रदर्शन को लेकर भी चर्चा में रहे। उनको छोड़कर एक बार फिर भारतीय गेंदबाजी निराशाजनक रही और हमने खूब रन लुटाए। जसप्रीत बुमराह गुजरात की ओर से खेलते हैं।

इस बीच बीसीसीआई ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए चोटिल अजिंक्य रहाणे के विकल्प के रूप में गुरकीरत सिंह मौजूद रहेंगे, वहीं तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार सीरीज से बाहर हो गए हैं और उनकी जगह ऋषि धवन को शामिल किया गया है।

डेविड वॉर्नर के आउट हो जाने के बाद भी मिचेल मार्श ने अपनी आक्रामक पारी जारी रखी और नाबाद लौटे। उन्होंने 84 गेंदों में 102 रन बनाए, जिसमें नौ चौके और दो छक्के उड़ाए। उन्होंने मैथ्यू वेड के साथ छठवें विकेट के लिए 85 रन की साझेदारी की।वेड 27 गेंदों में 36 रन की पारी खेली।50 ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया ने सात विकेट पर 330 रन बनाए।

टीम इंडिया शुरुआती विकेट लेने के बाद एक बार फिर विकेट के लिए जूझती दिखी। हालांकि 39वें ओवर में उसे सफलता मिली, जब ईशांत शर्मा ने शतकवीर वॉर्नर को चलता किया। वॉर्नर ने 36वें ओवर में 100 गेंदों में अपने करियर का 5वां शतक बनाया, वहीं भारत के खिलाफ यह उनका पहला वनडे शतक रहा। वे 113 गेंदों में 122 रन बनाकर आउट हुए, जिसमें नौ चौके और तीन छक्के शामिल रहे। मिचेल मार्श ने करियर की छठवीं फिफ्टी बनाई। गेंदबाजी में बुमराह ने जरूर प्रभावित किया। उन्होंने वॉर्नर और मार्श को खुलकर नहीं खेलने दिया, जबकि अन्य गेंदबाजों ने ढीली गेंदबाजी करके उनकी मेहनत पर पानी फेरा। ऑस्ट्रेलिया ने 40वें की समाप्ति पर पांच विकेट के नुकसान पर 249 रन जोड़े।

टीम इंडिया को 22वें ओवर में चौथी सफलता मिली, जब शॉन मार्श ने रन चुराने की कोशिश की और विकेट दे बैठे। दरअसल थ्रो सटीक नहीं होने के बावजूद गेंद गुरकीरत के पैरों से टकराकर विकेट में जा लगी और मार्श क्रीज से पीछे रह गए। इसके बाद मिचेल मार्श और डेविड वॉर्नर ने मोर्चा संभाला और कोई विकेट नहीं गिरने दिया। दोनों ने तेज खेलने की कोशिश की और 30वें ओवर में उमेश यादव की गेंदों पर 14 रन ठोक दिए। इस ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया का स्कोर चार विकेट पर 176 रन रहा।

कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की जोड़ी खतरनाक दिख रही थी, तभी टीम इंडिया के लिए डेब्यू मैच खेल रहे जसप्रीत बुमराह ने स्मिथ को चकमा दे दिया। खास बात यह कि स्मिथ को बुमराह की शॉर्ट बॉल समझ में नहीं आई और वे लूज शॉट खेल बैठे। उन्हें 28 के निजी स्कोर पर रोहित शर्मा ने कैच किया। इसके बाद ऑलराउंडर ऋषि धवन ने आईपीएल में अपनी टीम किंग्स इलेवन पंजाब के कैप्टन जॉर्ज बेली को वापस भेजा। 20वें ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया ने तीन विकेट पर 109 रन बनाए।

ऑस्ट्रेलियाई टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और पहला विकेट छह रन पर ही गिर गया। पिछले मैच में शानदार शतक लगाने वाले एरॉन फिंच सिडनी में जल्दी आउट हो गए। उन्हें ईशांत शर्मा ने छह के निजी स्कोर पैवेलियन भेज दिया। शुरुआती सफलता मिलने के बावजूद टीम इंडिया रनगति पर अंकुश नहीं लगा पाई और ऑस्ट्रेलिया ने 10 ओवर की समाप्ति पर एक विकेट में 61 रन बना लिए।

टीम इंडिया ने सिडनी वनडे के लिए भुवनेश्वर कुमार की जगह प्लेइंग इलेवन में नए तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को मौका दिया है। टॉस से पहले उन्हें वनडे कैप दी गई। चोटिल अजिंक्य रहाणे के स्थान पर मनीष पांडे शामिल किए गए हैं। गौरतलब है कि इस दौरे में टीम इंडिया गेंदबाजी समस्या से जूझ रही है। ऑस्ट्रेलिया ने चोटिल ग्लेन मौक्सवेल की जगह शॉन मार्श और केन रिचर्डसन के स्थान पर स्कॉट बोलैंड को मौका दिया है।