स्पॉट फिक्सिंग: चंदीला पर आजीवन, हिकेन पर 5 साल का बैन

स्पॉट फिक्सिंग: चंदीला पर आजीवन, हिकेन पर 5 साल का बैन

मुंबई। आईपीएल छह स्पॉट फिक्सिंग मामले में शामिल रहे राजस्थान रायल्स के पूर्व खिलाड़ी अजीत चंदीला पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की तीन सदस्यीय अनुशासन समिति ने सोमवार को आजीवन प्रतिबंध लगा दिया जबकि मुंबई के हिकेन शाह पर पांच वर्ष का प्रतिबंध लगाया गया है। बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय अनुशासन समिति ने यह निर्णय लिया है। चंदीला वर्ष 2013 में हुए इंडियन प्रीमियर लीग ट्वंटी20 टूर्नामेंट में स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद गिरफ्तारी झेल चुके हैं।

आईपीएल की टीम राजस्थान रायल्स के अन्य खिलाडिय़ों शांतकुमारन श्रीसंत और अंकित चव्हाण को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा मुंबई के हिकेन शाह पर बोर्ड ने पांच वर्ष के निलंबन का फैसला सुनाया है। शाह पर अपने प्रथम श्रेणी टीम के साथी खिलाड़ी के साथ फिक्सिंग के बाबत संपर्क किए जाने का आरोप है। जिस खिलाड़ी से शाह ने संपर्क किया था वह आईपीएल में भी खेलते हैं। इस खिलाड़ी ने इस मामले की शिकायत अपनी फ्रेंचाइजी से की थी जिसकी सूचना बाद में बीसीसीआई की अपराध निरोधक शाखा को दी गई थी।

बीसीसीआई ने अपने जारी बयान में कहा, अजीत चंदीला को बीसीसीआई की अपराध रोधी नियमों की विभिन्न धाराओं में भ्रष्टाचार और गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल रहने का दोषी पाया गया है। उन्होंने कहा, अजीत चंदीला पर आजीवन प्रतिबंध लगाया जा रहा है और वह इस दौरान बीसीसीआई या उससे मान्यता प्राप्त किसी भी संघ के साथ क्रिकेट के किसी भी प्रारूप में जुड़ नहीं सकेंगे।

बीसीसीआई की अनुशासन समिति ने मुंबई स्थित मुख्यालय में अपनी बैठक में चंदीला और हिकेन पर यह निर्णय लिया। इसके अलावा 2013 स्पॉट फिक्सिंग मामले में आरोपी रहे पूर्व पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ पर भी बोर्ड अहम फैसला लेगा। रऊफ ने बोर्ड पर पारदर्शी तरीके से कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए एक अन्य जांच अधिकारी की नियुक्ति की मांग की है। पूर्व अंपायर यहां बोर्ड के सामने बैठक में व्यक्तिगत तौर पर उपस्थित नहीं रहे लेकिन उन्होंने लिखित तौर पर अपनी अपील बोर्ड के सामने रखी जिसे अनुशासन समिति ने खारिज कर दिया।

बोर्ड ने जारी बयान में कहा, अजीत चंदीला को बीसीसीआई के अपराध रोधी नियम की धाराओं 2.1.।, 2.1.2, 2.1.3, 2.1.4, 2.2.2, 2.2.3, 2.4.1 के तहत भ्रष्टाचार की गतिविधियों में दोषी पाया गया है। उन्होंने कहा, मुंबई के क्रिकेटर हिकेन को भ्रष्टाचार रोधी नियमों की धाराओं 2.1.1, 2.1.2 और 2.1.4 के उल्लंघन का दोषी करार दिया गया है। बोर्ड ने हिकेन पर पांच वर्ष का प्रतिबंध लगाया है जिसके तहत वह भी बोर्ड या उससे मान्यता प्राप्त किसी क्रिकेट संघ में क्रिकेट से संबंधित किसी गतिविधि में प्रतिबंध के दौरान शामिल नहीं हो सकेंगे।