शार्ली एब्दो ने छापा मासूम आयलान पर विवादित कार्टून

शार्ली एब्दो ने छापा मासूम आयलान पर विवादित कार्टून

नई दिल्ली। विवादित कार्टूनों से चर्चा में रहने वाली फ्रांस की पत्रिका शार्ली एब्दो एक बार फिर खबरों में है। पत्रिका के ताजा कार्टून में तुर्की के समुद्री तट पर मृत पाए गए सीरियाई बच्चे आयलान कुर्दी को दिखाया गया है। एक कार्टून में आयलान को जर्मनी में ‘यौन उत्पीड़न’ करते दिखाया गया है। पत्रिका ने लिखा है कि अगर रेफ्यूजी आयलान बच गया होता तो वह एक यौन अपराधी बन जाता।

नए साल के जश्न पर जर्मनी के कोलोग्ने शहर में कथित तौर पर प्रवासियों (माइग्रेंट्स) के गैंग्स द्वारा अंजाम दी गई यौन उत्पीड़न की घटनाओं के बाद शार्ली एब्दो का यह कार्टून छापा गया है। नए साल का जश्न मना रहे लोगों, खासकर महिलाओं को हुडदंगियों ने शिकार बनाया था। यौन उत्पीड़न और हिंसा की घटनाओं की रिपोर्ट भी मिली थी।

इन घटनाओं में, संभावित प्रवासियों और आश्रय तलाश रहे लोगों की संलिप्तता ने देश में विरोध की लहर को भी तेज कर दिया है। जर्मनी ने सीरिया के रेफ्यूजीस को यूरोप में प्रवेश करने की मुहिम का नेतृत्व किया था।

शार्ली एब्दो ने इससे पहले सितंबर मध्य में आयलान कुर्दी का एक और व्यंग्यात्मक कार्टून छापा था। इसमें आयलान कुर्दी के मृत शरीर की बार-बार याद आने वाली तस्वीरों को इलस्ट्रेशन के जरिए मैगजीन में छापा गया था।

सोशल साइट्स पर जहां कुछ ट्विटर यूजर्स ने इस कार्टून को लेकर मैगजीन की आलोचना की। वहीं, कुछ इसे यूरोप के देशों पर भी हमला बता रहे थे। ऐसे यूजर्स इस कार्टून को समझने में हो रही गलती की तरफ भी इशारा कर रहे थे।

शार्ली एब्दो के इस कार्टून में, आयलान को मैक डी जैसे दिखाई दे रहे बिलबोर्ड के पास लेटा हुआ दिखाया गया है जिसपर फ्रांसीसी भाषा में लिखा है, ‘टू मीनस ऑफ चिल्ड्रेन फॉर द प्राइस ऑफ वन’, एक की कीमत में दो बच्चों का मेन्यू। इसके साथ ही बराबर में एक और शब्द लिखा है जिसका अंग्रेजी में मतलब है, ‘टू क्लोज टू हिज गोल’’, जो कवरपेज का शीर्षक भी है।

एक और इलस्ट्रेशन में जीसस क्राइस्ट को पानी पर चलते हुए दिखाया गया है। इसमें, बच्चा समंदर में उलटा डूबा हुआ नजर आ रहा है। बेहद तकलीफदेह इस कार्टून का टाइटल ‘द प्रूफ दैट यूरोप इज क्रिश्चियन’ दिया गया है। इसके साथ ही मैगजीन ने लिखा, ‘क्रिश्चियन पानी पर चलते हैं, मुस्लिमों के बच्चे डूब जाते हैं।’

पहली बार दुनियाभर में चर्चा में आने पर शार्ली एब्दो को सहानुभूति मिली थी लेकिन अब उसकी जमकर आलोचना शुरू हो चुकी है