पाकिस्तान में आतंकी पनाह लेते हैं

पाकिस्तान में आतंकी पनाह लेते हैं

अपने अंतिम सम्बोधन में ओबामा ने आईएस पर साधा निशाना 

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर उंगली उठाई है। अपने भाषण में पाकिस्तान और अफगानिस्तान का नाम लेकर कहा है कि वहां आतंकी पनाह लेते हैं और इसकी वजह से दुनिया में अशांति बनी रहेगी। हालांकि ओबामा ने इसके साथ ही अफ्रीका और मध्य अमेरिका का भी नाम लिया है। ओबामा ने ये बातें इस्लामिक स्टेट यानि आईएस पर बात करते हुए कही। ओबामा ने कहा कि आईएस एक कट्टरवादी संगठन है।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अफगानिस्तान और पाकिस्तान सहित दुनिया के कई हिस्सों में दशकों से अस्थिरता बनी हुई है और अलकायदा और आईएसआईएस से अमेरिका को सीधा खतरा है। कांग्रेस को अपने आखिरी ‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’ में ओबामा ने कहा कि अलकायदा और अब आईएसआईएस दोनों से ही हमारे लोगों को सीधा खतरा है क्योंकि आज की दुनिया में मुट्ठी भर आतंकवादी,जिनके लिए अपने खुद के सहित मानव जीवन का कोई महत्व नहीं है, बहुत बड़ा नुकसान कर सकते हैं।

यह ओबामा का आठवां ‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’ था। उन्होंने कहा कि अलकायदा और आईएसआईएल जैसे आतंकी समूह देश में लोगों के दिमाग में जहर भरने के लिए इंटरनेट का उपयोग करते हैं, वे अमेरिकी सहयोगियों को कमजोर करते हैं। आईएसआईएल को आईएसआईएस इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह के तौर पर भी जाना जाता है। ओबामा ने कहा लेकिन हमने आईएसआईएस को नष्ट करने पर ध्यान केंद्रित किया है। यह दावा करना एक तरह से उनकी मर्जी के अनुसार चलना है कि यह तीसरा विश्व युद्ध है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि बड़ी संख्या में लड़ाके अपार्टमेंट और गैराजों में साजिश रचते हैं और नागरिकों के लिए बड़ा खतरा पेश करते हैं जिसे रोका जाना चाहिए लेकिन वे हमारे राष्ट्रीय अस्तित्व के लिए खतरा नहीं हैं। जारी अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि आईएसआईएस यही कहानी बताना चाहता है। गुट में लोगों को भर्ती करने के लिए वह यही दुष्प्रचार करते हैं।

ओबामा ने कहा कि हमें उन्हें यह बताने की जरूरत नहीं है कि हम गंभीर हैं और इस लड़ाई में उस झूठ का सहारा ले कर हमें महत्वपूर्ण सहयोगियों को दूर करने की जरूरत नहीं है कि आईएसआईएल दुनिया के सबसे बड़े धर्मों में से एक का प्रतिनिधि है। हमें उन्हें यह बताने की जरूरत है कि वे हत्यारे और उन्मादी हैं जिनका सफाया करना है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका यही कर रहा है। पिछले एक साल से अधिक समय से अमेरिका आईएसआईएल का वित्तपोषण समाप्त करने, उनकी साजिशों को नाकाम करने, आतंकी लड़ाकों का आना रोकने और उनकी नापाक विचारधारा को समाप्त करने के लिए 60 से अधिक देशों के गठबंधन का नेतृत्व कर रहा है। राष्ट्रपति ने कहा कि करीब 10,000 हवाई हमलों के साथ हम उनके नेतृत्व को, उनका तेल, उनके प्रशिक्षण शिविरों और उनके हथियारों को खत्म कर रहे हैं।

इराक और सीरिया में अतिक्रमण किए गए भूभागों पर फिर से कब्जा कर रहे बलों को हम प्रशिक्षण, हथियार और सहयोग दे रहे हैं। अगर कांग्रेस यह लड़ाई जीतने के लिए गंभीर है और हमारे सैनिकों और दुनिया को एक संदेश देना चाहती है तो आपको आईएसआईएल के खिलाफ सैन्य बल के उपयोग को अंतत: अधिकृत करना चाहिए। मतदान कीजिए। लेकिन अमेरिकी लोगों को यह जानना चाहिए कि कांग्रेस की कार्रवाई के साथ या उसके बिना, आईएसआईएल को वही सबक मिलेंगे जो उससे पहले आतंकियों को मिले हैं।