पांच प्रतिशत से ऊपर पहुंची खुदरा मुद्रास्फीति

पांच प्रतिशत से ऊपर पहुंची खुदरा मुद्रास्फीति

नई दिल्‍ली: दालों व अन्य खाद्य उत्पादों के दाम बढ़ने से खुदरा मुद्रास्फीति अक्टूबर महीने में बढ़कर पांच प्रतिशत हो गई। खुदरा मुद्रास्फीति में लगातार दूसरे महीने बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति इससे एक माह पहले सितंबर में 4.41 प्रतिशत थी जबकि एक साल पहले अक्टूबर में यह 4.62 प्रतिशत थी। गुरुवार को जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार आलोच्य महीने में कुल उपभोक्ता खाद्य मुद्रास्फीति बढ़कर 5.25 प्रतिशत हो गई।

दाल एवं उत्पादों की श्रेणी में खुदरा मुद्रास्फीति में अक्टूबर माह में भारी वृद्धि के साथ 42.20 प्रतिशत पर पहुंच गई। खाद्य व ब्रेवेरेज श्रेणी में कीमत में बढ़ोतरी अक्टूबर में 5.34 प्रतिशत रही वहीं मोटे अनाज व इसके उत्पादों की मुद्रास्फीति भी 1.46 प्रतिशत रही। अक्टूबर में सब्जियों व फलों की खुदरा मुद्रास्फीति क्रमश: 2.42 प्रतिशत व 1.98 प्रतिशत रही। वहीं प्रोटीन से भरपूर अन्य उत्पादों जैसे कि मांस व मछली आदि की कीमत में वृद्धि घटकर 5.01 प्रतिशत रही।

इसी तरह दूध व दूध उत्पादों की खुदरा कीमत में वृद्धि 4.79 प्रतिशत रही। आलोच्य महीने में अंडे 0.59 प्रतिशत सस्ते हुए। सांख्यिकी व कार्य्रकम कार्यान्वयन मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार चीनी व कन्फेक्शनरी श्रेणी की मुद्रास्फीति शून्य से 10.47 प्रतिशत नीचे रही। मसाला श्रेणी में मूल्य वृद्धि 9.82 प्रतिशत जबकि ‘नॉन एल्कोहलिक’ पेय पदार्थों की श्रेणी में मूल्य वृद्धि 4.31 प्रतिशत रही। ग्रामीण इलाकों में खुदरा मुद्रास्फीति 5.54 प्रतिशत जबकि शहरी क्षेत्र में बढ़कर 4.28 प्रतिशत हो गई।