धनतेरस पर आभूषण नरम, सिक्के गरम

धनतेरस पर आभूषण नरम, सिक्के गरम

नयी दिल्ली : अशोक चक्र वाले सोने के सिक्के समेत अन्य स्वर्ण एवं चांदी के सिक्कों की अच्छी बिक्री देखी गयी। कीमतों में कमी के बीच सिक्कों की मांग अच्छी रही और कुल बिक्री पिछले साल के मुकाबले 25 प्रतिशत तक अधिक रहने का अनुमान है।

धनतेरस के दिन सोने एवं चांदी तथा अन्य मूल्यवान वस्तुओं की खरीद को शुभ माना जाता है। मुख्य रूप से यह त्योहार देश के उत्तर पश्चिम भाग में मनाया जाता है। सर्राफा कारोबारियों तथा एमएमटीसी-पीएएमपी के अनुसार अधिकतर जगहों पर खरीदारी गतिविधियों में तेजी देखी गयी। हालांकि बेंगलूर तथा दक्षिण भारत के अन्य भागों में बारिश से मांग पर कुछ हद तक असर पड़ा।

आल इंडिया जेम्स एंड जूलरी ट्रेड फेडरेशन के चेयरमैन श्रीधर जीवी ने कहा, मुख्य रूप से सोने एवं चांदी के सिक्कों का अच्छा कारोबार रहा। कुल मिलाकर मांग पिछले साल के लगभग आसपास ही रहा। वहीं जीजेएफ के निदेशक हरीश सोनी ने कहा, बिक्री पिछले साल के मुकाबले 15 से 20 प्रतिशत अधिक रहने का अनुमान है। अधिकतर बिक्री कम मूल्य के सिक्कों की देखी गयी। कीमत कम होने से मांग में तेजी आयी।

एमएमटीसी-पीएएमपी इंडिया के अध्यक्ष (विपणन) विपिन रैना ने कहा, शुभ दिन होने की वजह से लोग खरीदारी कर रहे हैं। आभूषणों के बजाय सोने और चांदी के सिक्कों की मांग अधिक है। पिछले साल की तुलना में इस बार धनतेरस पर सोने की सिक्कों की बिक्री में 25 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद है। चांदी के सिक्कों की बिक्री तो दोगुनी रहने की उम्मीद है।

रैना ने बताया कि अशोक चक्र के सिक्कों की भी काफी मांग है जिसे हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पेश किया है। देश में एमएमटीसी की 125 दुकानें के जरिये इनकी बिक्री की जा रही है। उन्होंने कहा कि सोने एवं चांदी की मांग में सुधार पिछले कुछ दिनों से देखी जा रही है, इसका कारण कीमत का कम होना है। मांग निश्चित रूप से पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है।

सानवी जूलरी के प्रबंध निदेशक संतोष श्रीवास्तव ने कहा कि इस साल सिक्कों की मांग आभूषण से अधिक है। उन्होंने कहा, स्वर्ण आभूषण की मांग 30 प्रतिशत कम है। सोने का भाव 22,000 रुपये प्रति 10 ग्राम जाने की अटकलों के कारण कई लोग मौजूदा दाम पर आभूषण खरीदने से बच रहे हैं। ऐसे में प्रतीक के रूप में लोग सोने के सिक्के खरीद रहे हैं।

बांबे बुलियन एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सुरेश हुंडिया ने कहा, कम मूल्य वाले यानी 10 ग्राम तक के सोने और चांदी के सिक्कों की मांग अधिक है। हालांकि, पिछले साल की तुलना में सोने का भाव 1,000 रुपये प्रति दस ग्राम तक कम है, इसके बावजूद आभूषणों की मांग अधिक नहीं है। राष्ट्रीय राजधानी में सोने का दाम आज 120 रुपये चढ़कर 26,230 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। हालांकि पिछले साल धनतेरस के 27,925 रुपये प्रति दस ग्राम के दाम की तुलना में यह छह प्रतिशत से अधिक कम है। इसी तरह इस बार चांदी का दाम आज 35,410 रुपये प्रति किलोग्राम पर चल रहा था। पिछले साल धनतेरस पर यह 39,000 रुपये किलोग्राम था।