भारत नहीं आना चाहते ग़ज़ल सम्राट गुलाम अली

भारत नहीं आना चाहते ग़ज़ल सम्राट गुलाम अली

कराची: पाकिस्तानी गजल गायक गुलाम अली ने उन खबरों को खारिज कर दिया है, जिनमें कहा गया था कि उन्होंने दिसंबर में नई दिल्ली और जयपुर में होने वाले समारोहों में शिरकत करने के लिए सहमति दे दी है।

अली ने कल रात जियो न्यूज चैनल पर कहा, 'यदि किसी ने कोई तारीख बताई कि मैं फलां दिन भारत में प्रस्तुति दूंगा तो उसने ऐसा अपने आप ही किया होगा। मैंने अगले माह जयपुर में किसी समारोह के लिए न तो कोई वादा किया है और न ही कोई तारीख दी है।' इस दिग्गज गजल गायक को पिछले माह शिवसेना के विरोध के चलते मुंबई और पुणे में अपने समारोह रद्द करने पड़े थे। इसके अलावा इन्होंने आठ नवंबर को नई दिल्ली में होने वाले एक समारोह को भी रद्द कर दिया था।

उन्होंने कहा, 'फिलहाल भारत में मेरे किसी समारोह की कोई योजना नहीं है। मुझे नहीं लगता कि इस समय मेरे लिए भारत जाने और वहां प्रस्तुति देने के लिहाज से उपयुक्त माहौल है। मेरा दिल भारत जाने का नहीं है।'

अली ने कहा, 'मैं बीते समय में जब भी भारत गया हूं तो मुझे वहां बहुत प्यार मिला है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि इस समय मैं वहां जाना चाहता हूं, क्योंकि मुझे राजनीति में घसीटा जाना पसंद नहीं है।'

अली ने कहा, 'मेरा इस बात में दृढ़ विश्वास है कि क्रिकेट और संस्कृति में नियमित संपर्कों से दोनों देशों के बीच रिश्ते बेहतर होते हैं।' उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि शिवसेना ने अपनी पृष्ठभूमि के अनुरूप ही काम किया है और बातें कही हैं।' इसी शो में, भारतीय फिल्मकार महेश भट्ट ने भी अली के समारोह को रद्द किए जाने पर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि उन्हें प्रसिद्ध गायक के साथ किए गए बर्ताव पर शर्मिंदगी महसूस हुई।