बिजली की दशा सुधारने को मुख्यमंत्री गंभीर

बिजली की दशा सुधारने को मुख्यमंत्री गंभीर

ऊर्जा विभाग की समीक्षा में दीपावली पर बिजली व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने के दिए निर्देश 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बिजली व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए अधिकारियों को प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले महीने चार पारेषण उपकेन्द्रों का ऊर्जीकरण, अक्टूबर, 2016 से प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में 16 घण्टे तथा शहरी इलाकों में 22 से 24 घण्टे बिजली उपलब्ध कराने की दिशा में एक प्रभावी कदम है।

श्री यादव आज यहां अपने सरकारी आवास पर ऊर्जा विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन द्वारा जनपद अलीगढ़ में 400 के0वी0, मेरठ के मुण्डाली क्षेत्र में 132 के0वी0, लहरपुर (सीतापुर) में 132 के0वी0 तथा श्रीमऊ (हरदोई) में 132 के0वी0 पारेषण उपकेन्द्रों का ऊर्जीकरण अक्टूबर, 2015 में किया गया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि दीपावली के मद्देनजर सभी विद्युत सब स्टेशनों, ट्रांसफाॅर्मरों तथा लाइनों की व्यवस्था हर हाल में चुस्त-दुरुस्त रखी जाए। उन्होंने अभियन्ताओं एवं अन्य फील्ड स्टाफ को मुस्तैद रहने के निर्देश दिए हैं। 

श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार जनता की बिजली सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने के लिए गम्भीर है और इसके लिए विद्युत उत्पादन, पारेषण एवं वितरण तंत्र में बड़े पैमाने पर कार्य कराए जा रहे हैं। उन्होंने नई बिजली परियोजनाओं को तेजी से पूरा कराने और बिजली उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए। उन्होेंने ऊर्जा संरक्षण एवं सौर ऊर्जा जैसे वैकल्पिक स्रोतों से बिजली उत्पादन बढ़ाए जाने पर भी बल देते हुए कहा कि प्रदेश की ऊर्जा आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए सभी उपाय किए जाने जरूरी हैं। 

बैठक के दौरान अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि ग्रामीण इलाकों की विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके तहत तहसीलों में बेहतर विद्युत आपूर्ति के लिए बिजली सबस्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India